1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत में एक गांव का नया नाम 'ट्रंप विलेज'

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के नाम पर भारत में हरियाणा के एक गांव का नाम बदल कर ‘ट्रंप विलेज’ रख दिया गया है.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका में डॉनल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार उनसे मिलने वाशिंगटन डीसी पहुंचे हैं. दूसरी ओर, भारत में इससे पहले ही एक गांव के दिलचस्प नामकरण का मामला सामने आया है. भारत में हरियाणा के एक गांव का नाम बदल कर ‘ट्रंप विलेज' रख दिया गया है.

गांव के शुरू होते ही एक बड़ा सा साइन बोर्ड लगाया गया है, जिस पर ट्रंप की तस्वीर है. बोर्ड पर हिंदी और अंग्रेजी दोनों में लिखा है, "ट्रंप के गांव में आपका स्वागत है." इस गांव को अब तक मरोड़ा के नाम से जाना जाता था.

नये नामकरण के मौके पर गांव में जगह जगह डॉनल्ड ट्रंप के पोस्टर लगाये गये थे. हालांकि नाम परिवर्तन ना ही आधिकारिक तौर पर किया गया है और ना ही सरकार से इस बदलाव की स्वीकृति मिली है.

इस गांव में शौचालय बनाने और स्वच्छता पर काम कर रहे सुलभ समूह ने यह नाम स्थानीय परिषद को सुझाव के तौर पर दिया है. सुलभ समूह के संस्थापक बिंदेश्वर पाठक ने बताया कि गांव का नाम बदलने का ख्याल हाल ही में आया. वे अमेरिका गये हुये थे और उन्होंने सोचा कि गांव का नाम बदल कर ट्रंप क्यों नहीं रखा जा सकता.

पिछले कुछ सालों में आसपास के भी कई गांवों के नाम बदले जा चुके हैं. उन्होंने कहा कि ये नाम अमेरिका के साथ बेहतर रिश्तों के लिए सम्मान के भाव और भारत में बेहतर स्वच्छता के समर्थन में रखा जा रहा है.

गांव के एक निवासी अजीज अहमद का कहना है कि अगर गांव के नये नाम को आधिकारिक स्वीकृति नहीं भी मिली तो उसका नाम अब यही बना रहेगा. उन्होंने कहा कि गांव में सारे लोग नये नाम को लेकर बहुत खुश हैं और अब वे गांव को ट्रंप के गांव के नाम से ही पुकारेंगे.

करीब 400 लोगों के इस गांव में बहुत से लोगों से पूछे जाने पर पता चला कि असल में उन्हें नहीं पता कि ट्रंप कौन है. पर वे इस बात से खुश हैं कि गांव के 'बड़े व्यक्ति' इस बात को सहमति दे रहे हैं. वे मानते हैं कि इससे गांव में मुफ्त शौचालय बनाने में मदद मिलेगी. हालांकि, गांव में नये शौचालय बनने के लिए ट्रंप या अमेरिका की तरफ से कोई रकम नहीं मिल रही है. इस मौके पर गांव के बच्चे गांव भर में मोदी और ट्रंप के पोस्टर और बैनर लेकर घूमते रहे.

राष्ट्रपति पद संभालने के बाद से ट्रंप के साथ पीएम मोदी की फोन पर तीन बार बातचीत हो चुकी है. 26 जून को पहली बार वॉशिंगटन में उनका आमना सामना होना है.

एसएस/आरपी (एएफपी, एपी)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री