1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

भारत बन चुका है ग्लोबल पावरः ओबामा

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि भारत एक उभरती हुई ताकत नहीं है बल्कि ग्लोबल पावर बन चुका है. ओबामा ने भारतीय संसद को संबोधित करते समय भारत के प्रति अपने प्रेम का खूब इजहार किया.

default

धन्यवाद भारतःओबामा

ओबामा ने लगभग 35 मिनट के भाषण में भारत की सभ्यता संस्कृति से लेकर हर क्षेत्र में उसकी तरक्की की जमकर तारीफ की. भारत में शून्य से सुपर कंप्यूटर तक के आविष्कार का हवाला देकर ओबामा ने भारत को विश्व शक्ति करार दिया. इसे उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के विस्तार और इसमें स्थाई सदस्यता के भारत के दावे को सही ठहराने की दलील के तौर पर भी इस्तेमाल किया. साथ ही चीन का नाम लिए बगैर उन्होंने इसे सुरक्षा परिषद में शक्ति संतुलन के पक्ष में भी बताया.

ओबामा ने कहा "मुझे आने वाले कुछ सालों में सुरक्षा परिषद में सुधार की पूरी उम्मीद है और इसी के बलबूते मैं इसमें भारत के स्थाई सदस्य के रूप में मौजूद होने की उम्मीद करता हूं."

भारत सरकार ने सुरक्षा परिषद में समर्थन के लिए दिए गए ओबामा के वक्तव्य को सराहनीय पहल बताया है. इसके अलावा विपक्षी पार्टी बीजेपी ने भी इसकी सराहना की है. पार्टी के वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह ने ओबामा की भारत यात्रा को सफल बताया.

ओबामा ने एशिया के 10 दिवसीय दौरे की शुरुआत भारत से की है. यात्रा के अंतिम चरण में भारतीय संसद के दोनों सदनों की संयुक्त अधिवेशन को संबोधित करते समय ओबामा ने भारत के महत्व का जिक्र करते हुए कहा कि राष्ट्रपति बनने के बाद वह पहली बार किसी देश की तीन दिन की यात्रा कर रहे हैं.

Obama in Indien

ओबामा ने भारत की साझी सांस्कृतिक विरासत, समन्वयवादी सभ्यता और आजादी के बाद हर क्षेत्र में की गई तरक्की को दुनिया के लिए अनुकरणीय बताया. उन्होंने कहा कि इसी वजह से वह भारत के प्रशंसक हैं. उन्होंने भारत की आजादी के बाद महात्मा गांधी के बताए रास्ते पर चलने को उसकी ताकत और तरक्की का मूल स्रोत बताया. ओबामा ने कहा कि गांधी दर्शन दुनिया में शांति और समग्र विकास का ऐसा सूत्र है जो दुनिया की बेहतर तस्वीर बना सकता है.

इसके अलावा उन्होंने रोजगार के नए अवसर पैदा करने के लिए भारत और अमेरिका की आपसी भागीदारी को आगे बढ़ाने पर जोर दिया. ओबामा ने कहा कि इसके लिए अमेरिका ने भारत की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए परमाणु सहयोग समझौता किया है. इससे दोनों देशों के लिए रोजगार के पर्याप्त अवसर उपलब्ध हो सकेंगे.

पूरे संबोधन में ओबामा ने कई बार हिंदी के शब्दों का भी इस्तेमाल किया. शुरू में उन्होंने भारत में अपने जोरदार स्वागत के लिए कहा बहुत धन्यवाद. इसके बाद लोकसभा और राज्यसभा भी उन्होंने हिंदी में ही कहा. आखिर में अपने भाषण का अंत जय हिंद से कर ओबामा ने भारतीयों का दिल जीतने की कामयाब कोशिश की.

वह शनिवार को मुंबई से अपना भारत दौरा शुरू कर रविवार की दोपहर नई दिल्ली पंहुचे. एशिया यात्रा के दूसरे चरण में ओबामा मंगलवार को सुबह इंडोनेशिया के लिए रवाना होंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/निर्मल

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links