1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत पाक बातचीत में चिदंबरम का कड़ा रुख

सार्क गृहमंत्रियों की बैठक से पहले पहले भारतीय गृहमंत्री पी चिदंबरम ने पाकिस्तानी गृहमंत्री रहमान मलिक के साथ बातचीत में आतंकवादियों के सवाल पर कड़ा रुख अपनाया है. चिदंबरम ने पाक से आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई को कहा.

default

शुक्रवार को पी चिदंबरम ने इस्लामाबाद में कहा कि मुंबई हमलों से जुड़े जो लोग पाकिस्तान में हैं, उनके ख़िलाफ़ सबूतों का पहाड़ जुट चुका है और हाल में प्राप्त सूचनाओं से यह पहाड़ ऊंचा होता जा रहा है. इसलिए उनकी अपेक्षा है कि पाकिस्तान इन सूचनाओं के आधार पर मुंबई हमले के पीछे छिपे असली लोगों के ख़िलाफ़ क़दम उठाए.

भारतीय गृहमंत्री चिदंबरम ने जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद के ख़िलाफ़ क़दम उठाने की खासतौर पर मांग की. उन्होंने कहा कि रावलपिंडी में जिन 7 लोगों के ख़िलाफ़ मुकदमा चलाया जा रहा है, उनमें से मुश्किल से दो लोग मुंबई हमलों की योजना के लिए मुख्य रूप से ज़िम्मेदार थे. इस योजना में कई अन्य लोगों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, जिनके बारे में पाकिस्तान को सूचनाएं दी जा चुकी हैं.

वैसे बैठक के दायरे से पता चला है कि आतंकवाद पर कड़े रुख़ के बावजूद बातचीत का वातावरण सौहार्दपूर्ण था. चिदंबरम ने कहा कि अगर पाकिस्तान स्थिति की गंभीरता को समझते हुए आवश्यक क़दम उठाने का आश्वासन दें, तो वे बातचीत पर संतुष्ट रहेंगे. पाकिस्तानी गृहमंत्री रहमान मलिक का कहना था कि बातचीतों की शुरुआत सकारात्मक रही है और उन्हें उम्मीद है कि यह सिलसिला जारी रहेगा.

सार्क गृहमंत्रियों की बैठक के बाद प्रधानमंत्री युसूफ रजा गिलानी और राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की ओर से दावत दी जाने वाली है, जहां गृहमंत्रियों के बीच फिर से मुलाकात होगी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री