1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

भारत-पाक की फिल्मों से दुश्मनी न बढ़ाएं

पाकिस्तान फिल्म सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष नीलोफर बख्तियार ने दोनों मुल्कों में फिल्म बनाने वालों से भारत-पाक की दुश्मनी ना बढ़ाने की मांग की है. नीलोफर गोवा में चल रहे दक्षिण एशिया फिल्म फेस्टिवल में शामिल होने आईं हैं.

default

नीलोफर का कहना है "भारत और पाकिस्तान के फिल्मकार जानते हैं कि सीमा के दोनों तरफ हालात अच्छे नहीं हैं. ऐसे में कोई नहीं चाहता कि जंग हो. पाकिस्तान में भारतीय फिल्मों से विवादित हिस्सों को निकालने के बाद ही उन्हें दिखाने की मंजूरी दी जाती है." शुक्रवार को शुरू हुए गोवा के फिल्म फेस्टिवल में शामिल होने पाकिस्तान से छह सदस्यों का एक दल आया हुआ है. नीलोफर ने भारतीय फिल्मकारों से दोनों मुल्कों के बीच नफरत की बजाय प्यार बढ़ाने वाली फिल्में बनाने की मांग रखी.

Strand in Goa Indien

गोवा में चल रहा है फेस्टिवल

बख्तियार ने कहा, "हमारे बच्चों को शांति भरे माहौल में बड़े होने का मौका मिलना चाहिए. हमें अच्छे पड़ोसियों की तरह रहने की जरूरत है." नीलोफर पाकिस्तान में कैबिनेट मंत्री का ओहदा भी संभाल चुकी हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारतीय फिल्मकारों के साथ मिलकर फिल्में बनाना चाहता है. इसके साथ ही पाकिस्तानी फिल्मकारों को ट्रेनिंग की भी जरूरत है जो उन्हें भारत में मिल सकती है.

नीलोफर ने याद दिलाया कि लंबे समय तक संघर्ष करने और काफी दबाव बनाने के बाद ही पाकिस्तान में भारतीय फिल्मों को दिखाने की इजाजत मिल पाई है. अब भारतीय टीवी चैनलों को भी पाकिस्तान में दिखाने की मंजूरी मिल गई है. अब तो हर हिंदुस्तानी फिल्म पाकिस्तान में आधिकारिक रूप से रिलीज होती है. नीलोफर ने कहा कि ये अमन चाहने वाले लोगों के लिए एक बड़ी सफलता है.

गोवा में सभी दक्षिण एशियाई देशों के फिल्मी दुनिया से जुड़े लोग फेस्टिवल में शामिल होने आए हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links