1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत पाकिस्तान के बीच ड्रग्स

कश्मीर में भारतीय पुलिस द्वारा एक पाकिस्तानी ट्रक को पकड़े जाने के बाद दोनों देशों में विवाद छिड़ गया है. ट्रक में 100 किलो हेरोइन थी. पाकिस्तान ने भी भारतीय ट्रकों को पकड़ लिया है.

कश्मीर के रास्ते कारोबार बढ़ाने की भारत और पाकिस्तान की कोशिशों पर उस वक्त पानी फिर गया, जब भारतीय पुलिस ने दावा किया कि बादाम के ट्रक में उन्हें 100 किलो हेरोइन मिली है. पिछले हफ्ते इस ट्रक के पकड़े जाने के बाद पाकिस्तान ने सीमा पार से कारोबार रोक दिया है. मंगलवार को भारत ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त को बुला कर विरोध जताया. इसी कश्मीर की वजह से भारत और पाकिस्तान के बीच दो बड़े युद्ध हो चुके हैं. पिछले सालों में दोनों देश यहां के रास्ते कारोबार करके स्थिति बेहतर करने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन भारत का कहना है कि ऐसी हरकतों से मामला खराब हो सकता है.

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन का कहना है, "यह बेहद चौंकाने वाली बात है कि पाकिस्तान ने एलओसी पर कारोबार को ड्रग तस्करी के लिए बंधक बना लिया, जिसका फायदा जम्मू कश्मीर के लोगों को हो सकता था." भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और नवाज शरीफ रिश्ते सुधारने की बात करते हैं. जानकारों का कहना है कि भारत की विशाल अर्थव्यवस्था से पड़ोसी देश पाकिस्तान काफी फायदा उठा सकता है.

शुक्रवार को पाकिस्तान के चकोटी से आ रहे बादाम से लदे एक ट्रक को भारतीय सीमा में रोका गया और जांच के बाद 114 पैकेट हेरोइन पाई गई. इस मामले में ड्राइवर को गिरफ्तार किया गया है. डीआईजी जेपी सिंह का कहना है कि 2008 में दोनों मुल्कों के बीच शुरू हुए कारोबार के बाद यह सबसे बड़ी मात्रा में पकड़ी गई ड्रग्स है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत एक अरब रुपये है. सिंह का कहना है कि ये बादाम बांदीपुरा में एक भारतीय कारोबारी के लिए लाए जा रहे थे और इस मामले में अभी और छापे मारे जा रहे हैं, "हमने नियमों का पालन किया है. हमने एक मामला दर्ज किया है और जब आप केस दर्ज करते हैं, तो हमारे कानून के मुताबिक आपको ड्राइवर को गिरफ्तार करना होता है."

हालांकि पाकिस्तान का कहना है कि भारत आए दिन बिना पुख्ता सबूत के ही इस तरह के आरोप लगाता आया है. आजाद कश्मीर ट्रैवल एंड ट्रेड के प्रमुख रिटायर्ड ब्रिगेडियर मुहम्मद इस्माइल का कहना है, "यह पहला मौका नहीं है कि भारत इस तरह का काम कर रहा है. पहले भी कम से कम पांच बार उन्होंने बेबुनियाद आरोप लगाए, जिसमें कोकीन से लेकर हथियार और नकली नोट की बात शामिल थी." उनका कहना है कि कभी भी कोई सबूत नहीं मिले.

अब सीमा पार के 26 लोगों का दल भारत में फंसा हुआ है, जिनमें से ज्यादातर पाकिस्तानी हिस्से वाले कश्मीर के रहने वाले हैं. विवाद के कारण उनके ट्रकों को पाकिस्तानी अधिकारियों ने देश में घुसने से रोक दिया है. कश्मीर के दोनों हिस्सों में सामान लाने ले जाने वाले ट्रकों की आवाजाही को भी रोक दिया गया है.

एजेए/एमजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री