1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत जाना चाहते हैं पाकिस्तान के 100 हिंदू परिवार

बलूचिस्तान में 100 से ज्यादा हिंदू परिवार घर बार छोड़ कर भारत जाना चाहते हैं. रिपोर्टें हैं कि उनका फिरौती के लिए अपहरण किया जा रहा है, जिसके बाद वे पाकिस्तान में नहीं रहना चाहते. कुछ परिवारों को भारत में शरण मिली.

default

पाकिस्तान में होली खेलते हिंदू

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार की रिपोर्ट में कहा गया है कि दक्षिण पश्चिम बलूचिस्तान में हिंसा और अपराध के दौरान सबसे ज्यादा असर वहां रहने वाले हिंदू परिवारों पर पड़ा है. प्रांत के गृह मंत्रालय के मुताबिक पिछले साल जबरन वसूली और फिरौती के लिए सबसे ज्यादा 291 हिंदुओं को निशाना बनाया गया.

अखबार ने हिंदू संप्रदाय के लोगों से बातचीत के आधार पर तैयार अपनी रिपोर्ट में कहा है कि बलूचिस्तान प्रांत में मसतूंग जिले के पांच हिंदू परिवारों को भारत में रहने की जगह मिल गई है, जबकि छह और परिवार राजनीतिक शरण लेने की कोशिश कर रहे हैं. कई दूसरे परिवार भी भारत या पाकिस्तान के दूसरे हिस्सों में जाना चाहते हैं.

Flash-Galerie Pakistan: Hindu-Fesival in Lahore

फिरौती और अपहरणः

33 साल के केमिस्ट विजय कुमार ने बताया कि फिरौती और अपहरण से तंग आकर 100 से ज्यादा हिंदू परिवार भारत जाने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा, "हमारे रिश्तेदार वहीं भारत में हैं. इसलिए हम भी वहीं जाना चाह रहे हैं."

सुरेश कुमार का परिवार पिछले सौ साल से क्वेटा के पास रह रहा है. लेकिन 31 साल के सुरेश अब परिवार के साथ भारत में शरण लेना चाह रहे हैं. कुमार का कहना है, "यहां कानून और व्यवस्था की गिरती स्थिति को देखते हुए हममें से ज्यादातर लोग अब भारत या पाकिस्तान के दूसरे हिस्से में चले जाना चाहते हैं."

संबंधित सामग्री