1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

भारत छोड़ इंडोनेशिया रवाना हुए ओबामा

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा अपना भारत दौरा खत्म कर इंडोनेशिया के लिए रवाना हो गए हैं. इंडोनेशिया से उनका खास लगाव है क्योंकि वहां उन्होंने बचनप गुजारा है.

default

इंडोनेशिया दौरे के जरिए वह मुस्लिम बहुल देश में इस्लाम पर बहस और राजनीतिक संबंधों को और पक्का करना चाहते हैं.

इंडोनेशिया में पूरे विश्व में मुस्लिम जनसंख्या सबसे ज्यादा है. ओबामा कूटनीति के साथ अमेरिका के लिए नए निर्यात बाजारों को भी ढूंढने की ताक में हैं.

ओबामा ने अपने बचपन के चार साल इंडोनेशिया में गुजारे हैं. उन्हें वहां 'बैरी' के नाम से जाना जाता है. 24 घंटों के छोटे दौरे में वह राष्ट्रपति सुसिलो बांबांग युधोयोनो से बात करेंगे. बातचीत आर्थिक और सुरक्षा मुद्दों पर होगी. उसके बाद ओबामा दक्षिणपूर्वी एशिया की सबसे बड़ी इस्तकलाल मस्जिद का भी दौरा करेंगे और इंडोनेशिया के लोगों को खुले में संबोधित करेंगे.

नागरिकों को संबोधित करेंगे ओबामा

अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि भारत दौरे की तरह ही ओबामा की इंडोनेशिया यात्रा का मकसद एक उभरते लोकतंत्र के साथ संबंध बेहतर बनाना है. इंडोनेशिया को 21वीं

Flash-Galerie USA Barack Obama als Kind

जकार्ता के दिनों में ओबामा (दाएं)

सदी की एक अहम आर्थिक ताकत के तौर पर देखा जा रहा है. ओबामा के लिए भाषण लिखने वाले बेन रोड्स का कहना है, "हम एशिया पर केंद्रित हैं. साथ ही उभरती ताकतें और लोकतंत्र को 21वीं सदी में अमेरिकी रणनीति के अनुकूल भी बनाने की कोशिश की जा रही है. भारत इस श्रेणी में खरा उतरता है और इंडोनेशिया भी."

जकार्ता में बुधवार को ओबामा भाषण देंगे जिसके जरिए वह इंडोनेशियाई नागरिकों को लोकतंत्र और आर्थिक विकास को और करीब से दिखाना चाहते हैं. साथ ही वह काहिरा में मुसलमानों को दिए भाषण की तरह ही मुसलमानों के साथ बहस और बातचीत का माहौल फिर बनाना चाहते हैं. लेकिन अमेरिका में इस साल 9/11 के हमलों की जगह पर मस्जिद बनाने के विवाद के बाद कई अधिकारियों ने इस्लाम के साथ नई बातचीत शुरु करने पर प्रश्न उठाए हैं.

Indonesien Obama Statue

जकार्ता में लगी ओबामा की मूर्ति

मध्यावधि चुनावों में हार से माहौल गंभीर

अमेरिकी मध्यावधि चुनावों से पहले ओबामा अपने परिवार को इंडोनेशिया में अपने बचपन के पसंदीदा जगह दिखाना चाहते थे. लेकिन हार के बाद इस तरह का दौरा करना राजनीतिक तौर पर बहुत सही नहीं माना जा रहा है.

हालांकि व्हाइट हाउस का कहना है कि अगले साल ओबामा दोबारा इंडोनेशिया आएंगे. अगले साल ओबामा पहले अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं.

हफ्ते की शुरुआत में ज्वालामुखी मेरापी के फटने से ओबामा के दौरे पर सवालिया निशान खड़े हो गए थे. लेकिन ज्वालामुखी का खतरा अब कम हो गया है और ओबामा की टीम ने दौरे को हरी झंडी दिखा दी है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एमजी

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links