1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत गुरु और तिब्बत चेला: दलाई लामा

तिब्बतियों के धार्मिक गुरु दलाई लामा ने पटना में कहा कि भारत गुरु है और तिब्बत उसका भरोसेमंद चेला. दलाई लामा के मुताबिक तिब्बत ने भारत से ही बौद्ध दर्शन सीखा है और उसे आगे बढ़ाया है.

default

दलाई लामा

बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर बुद्ध स्मृति पार्क का उद्घाटन करते हुए तिब्बतियों के धार्मिक नेता दलाई लामा ने कहा, "भारत गुरु है और तिब्बत भरोसेमंद चेला क्योंकि हमने बौद्ध धर्म के विद्वानों को नालंदा की परंपरा के अनुसार शिक्षा दी है."

माना जाता है कि बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही भगवान बुद्ध का जन्म हुआ इसी दिन उनका ईश्वर से साक्षात्कार हुआ और वह महानिर्वाण (मुक्ति) को प्राप्त हुए. इस दिन का दार्शनिक और आध्यात्मिक महत्व है.

दलाई लामा ने इस मौके पर 200 फुट ऊंचे स्तूप को भी भगवान बुद्ध की स्मृति में 'पाटलिपुत्र करुणा स्तूप' का नाम दिया. पत्रकारों से बातचीत के दौरान दलाई लामा ने कहा, "चीन में हालात तेजी से बदल रहे हैं. पिछले दो साल में एक हजार से ज़्यादा लेख चीन में लिखे गए जो हमारे स्वतंत्र तिब्बत के विचार का समर्थन करते हैं."

दलाई लामा ने कहा कि चीन में भी भगवान बुद्ध को मानने वाले और बौद्ध धर्म के अनुयायी रहते हैं. वहां 20 करोड़ बौद्ध हैं और जो भारत से भी ज्यादा हैं. दलाई लामा का आरोप है कि भारत सरकार के सुधार कार्यक्रम लोगों तक नहीं पहुंच रहे हैं और गरीबों और निचले तबकों का उच्च वर्ग लगातार शोषण कर रहा है.

उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बधाई दी कि लंबे समय से पिछड़े हुए बिहार को वह विकास के रास्ते पर ला रहे हैं.

रिपोर्टः पीटीआई/आभा मोंढे

संपादनः एस गौड़

संबंधित सामग्री