1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

भारत के मोह में सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य

भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थायी सीट हासिल करने के लिए पूरी ताकत लगा रहा है. और उसी दौरान परिषद के स्थायी सदस्यों के साथ उसका व्यापार तेजी से बढ़ रहा है.

default

मनमोहन ने मोहा या बाजार ने

अब तक भारत ने चीन समेत चार स्थायी सदस्यों के साथ 40 अरब डॉलर से ज्यादा के समझौते किए हैं. अभी रूसी राष्ट्राध्यक्ष की भारत यात्रा बाकी है.

भारत ने इस साल चीन, अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन के साथ अरबों डॉलर के समझौते किए हैं. इन चारों देशों के राष्ट्राध्यक्ष इस साल भारत के दौरे पर आए सभी ने बड़े व्यापारिक समझौते किए. पांचवें स्थायी देश रूस के राष्ट्रपति भी इस साल के खत्म होने से पहले भारत का दौरा कर लेंगे. 21 दिसंबर को दिमित्री मेद्वेदेव भारत की यात्रा पर आएंगे और उम्मीद की जा रही है कि रूस और भारत के बीच भी कई समझौते होने हैं.

इस वक्त चीन के प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ भारत में हैं. निवेश और व्यापार को बढ़ावा देने के लिए चीनी कंपनियां भारतीय कंपनियों के साथ 16 अरब डॉलर के समझौतों पर दस्तखत करने जा रही हैं.

इससे पहले महीने की शुरुआत में फ्रांस के राष्ट्रपति निकोला सारकोजी ने भारत का दौरा किया और लगभग 13 अरब डॉलर के समझौतों का एलान किया. चार दिन के अपने दौरे में सारकोजी ने दो न्यूकलियर रिएक्टरों और ईंधन की सप्लाई का बड़ा करार भी किया.

NO FLASH Obama in Indien

ओबामा के दिल्ली दौरे की गर्मजोशी

नवंबर महीने की शुरुआत में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भारत के दौरे पर आए थे. अपनी पहली भारत यात्रा के दौरान उन्होंने 10 अरब डॉलर के करार का एलान किया. इसमें अनिल अंबानी की रिलायंस पावर से अमेरिका का 2 अरब डॉलर का समझौता शामिल है. विमान बनाने वाली अमेरिकी कंपनी बोइंग को भी स्पाइसजेट ने 30 विमानों का ठेका दिया जिनकी कीमत 3 अरब डॉलर से ज्यादा है. अमेरिकी राष्ट्रपति का कहना था कि भारत के साथ हुए समझौतों से उनके देश में 50 हजार से ज्यादा नौकरियां पैदा होंगी.

जुलाई में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने भारत का दौरा किया ता. उन्होंने भी कई बड़े करार किए जिनमें एक अरब डॉलर का रक्षा समझौता शामिल है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links