1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत के बाद यूएई ने भी ब्लैकबेरी को कड़ी चेतावनी दी

संयुक्त अरब अमीरात ने ब्लैकबेरी सर्विस बंद करने की चेतावनी दी. भारत के बाद यूएई ने भी ब्लैकबेरी से साफ कहा, सुरक्षा संबंधी कमियां ठीक करो वरना यहां से कारोबार और बोरिया बिस्तर पैक करो. अक्टूबर तक की मोहलत दी.

default

सऊदी अरब के दूरसंचार विभाग की कड़ी फटकार का असर देश भर में तुरंत हुआ. ब्लैकबेरी और यूएई में उसके दस लाख से ज्यादा उपभोक्ताओं में हड़कंप मच गया. संयुक्त अरब अमीरात के टेलीकम्युनिकेशन रेगुलेटरी अथॉरिटी ने एक बयान जारी कर कहा, ''ब्लैकबेरी की कुछ सुविधाएं ऐसी हैं जिनका यूजर्स बिना कानूनी जवाबदेही के इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे न्यायिक, सामाजिक और राष्ट्रीय सुरक्षा की चिंताएं खड़ी हो रही है.''

दूरसंचार विभाग ने ब्लैकबेरी से साफ कहा है कि अगर 11 अक्टूबर तक इन कमियों को दूर नहीं किया गया तो कंपनी की सेवाओं को निलंबित कर दिया जाएगा. सूत्रों का कहना है कि सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों से कह दिया है कि वह इसी महीने ब्लैकबेरी के मैसेंजर को बंद कर दें.

ब्लैकबेरी को लेकर यह चिताएं नई नहीं है. यूएई से पहले भारत भी कह चुका है कि ब्लैकबेरी से उसकी राष्ट्रीय सुरक्षा खतरे में पड़ रही है. फ्रांस में सरकारी दफ्तरों में ब्लैकबेरी के इस्तेमाल पर पाबंदी है. दरअसल ब्लैकबेरी के जरिए किए जाने वाले मैसेज और मैसेंजर संदेशों को अब तक डिकोड नहीं किया जा पा रहा है. सामान्य तौर पर टेलीकॉम कंपनियों के पास हर मेल और मैसेज का ब्यौरा होता है लेकिन ब्लैकबेरी के मेल और मैसेज पकड़ में नहीं आ पा रहे हैं.

Die Welt wieder in Ordnung

ब्लैकबेरी से सुरक्षा को खतरा

यही वजह है कि भारत समेत कई देश ब्लैकबेरी के इस्तेमाल पर चिंता जा रहे हैं. भारत भी कह चुका है कि अगर ब्लैकबेरी ने नई दिल्ली की चिंताएं दूर नहीं की तो ब्लैकबेरी की सेवाएं बंद कर दी जाएगी. भारत इस वक्त टेलीकम्युनिकेशन के मामले में दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ने वाला बाजार है.

हालांकि ब्लैकबेरी कह चुका है कि वह भारत की चिंताओं को दूर करेगा. इस आश्वासन के बाद यूएई की उम्मीद जगी हैं कि ब्लैकबेरी उसका कहना भी मानेगा. अधिकारियों का कहना है कि जब नोकिया और आईफोन जैसे स्मार्टफोन सही ढंग से काम कर सकते हैं तो ब्लैकबेरी क्यों इस रास्ते पर नहीं चल सकता.

ब्लैकबेरी कनाडा की कंपनी है. दुनिया भर में इसके करीब सवा चार करोड़ उपभोक्ता हैं. ऐसे में भारत और यूएई जैसे देशों में कारोबार बंद होने का मतलब है, व्यापार और मुनाफे में भारी कमी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एन रंजन

DW.COM

WWW-Links