1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

भारत की तेजस्विनी ने रचा इतिहास

भारत की तेजस्विनी सावंत ने इतिहास रच दिया है. वह वर्ल्ड शूटिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं. और यह कारनामा उन्होंने वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी करते हुए करके दिखाया है.

default

जर्मनी के म्यूनिख में 50 मीटर राइफल इवेंट में तेजस्विनी ने गोल्ड मेडल जीता है. सावंत ने कुल 597 (100, 100, 100, 99, 99, 99) का स्कोर बनाया. 1998 में रूस की मरीना बोबकोवा ने यही स्कोर बनाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ा था. हालांकि 29 साल की सावंत स्कोर के मामले में पोलैंड की इवा योआन नोवाकोवस्का के बराबर थीं, लेकिन उन्हें बेहतर परफेक्ट स्कोर का फायदा मिला और गोल्ड मेडल दिया गया. कज़ाकस्तान की ओल्गा दोवगन को 596 के स्कोर के साथ कांस्य पदक मिला.

जीत के बाद बेहद खुश तेजस्विनी ने कहा कि वह बस अपना सबसे अच्छा प्रदर्शन करना चाहती थीं और मेडल या वर्ल्ड रिकॉर्ड के बारे में तो सोच भी नहीं रही थीं. महाराष्ट्र के कोल्हापुर की रहने वालीं सावंत ने बताया, "जिस तरह से हम ट्रेनिंग कर रहे थे, मैंने सोचा था कि इस बार मैं अपना अब तक का सबसे अच्छा प्रदर्शन कर लूंगा. लेकिन गोल्ड मेडल और वर्ल्ड रिकॉर्ड के बारे में मैंने नहीं सोचा. मैं बता भी नहीं सकती कि इस वक्त मुझे कैसा लग रहा है. यह अद्भुत है."

तेजस्विनी इस जीत के लिए अपने कजाक कोच स्तनिस्लाव लेपिडस को श्रेय दिया. उन्होंने कहा कि कोच ने कुछ योजनाएं बनाईं और सब कुछ उनके हक में रहा. तेजस्विनी कहती हैं कि वह एक छोटे शहर से आती हैं जहां शूटिंग जैसे खेल में आगे बढ़ पाना आसान नहीं है, लेकिन उनके माता पिता के समर्थन की वजह से वह आगे बढ़ने में कामयाब रहीं.

तेजस्विनी कहती हैं, "मुश्किलें तो हैं, लेकिन शिकायत करने से बेहतर है कि उन्हें प्रेरणा के तौर पर इस्तेमाल किया जाए और मेहनत की जाए. मेरे सपनों का साथ देते हुए मेरे माता पिता ने मुझे यही सिखाया."

इस जीत से अक्तूबर में दिल्ली में होने वाले कॉमनवेल्थ खेलों के लिए भी तेजस्विनी का उत्साह बढ़ा है. उनकी इस जीत पर राष्ट्रीय कोच सनी थॉमस भी बेहद खुश हैं. उन्होंने बताया कि उनसे पहले अब तक भारत में चार लोगों ने ही शूटिंग में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है. गगन नारंग, सुमा शिरूर, रोंजन सिंह सोढी और आशेर नोरिया के बाद वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाली सावंत सिर्फ पांचवीं भारतीय हैं. थॉमस ने कहा कि देश के लिए वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने वाली तेजस्विनी पहली महिला हैं और यह देश के लिए गौरव का पल है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः उ भट्टाचार्य

WWW-Links