1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

भारत आतंकवाद विरोधी समिति का प्रमुख

भारत के संयुक्त राष्ट्र दूत हरदीप सिंह पुरी को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आतंकवाद विरोधी समिति का अध्यक्ष चुना गया है. भारत दो अन्य प्रमुख समितियों की भी अध्यक्षता करेगा.

default

इन समितियों का अध्यक्ष चुने जाने की औपचारिक घोषणा बुधवार को होगी, जब 15 सदस्यीय नई सुरक्षा परिषद की पहली औपचारिक बैठक होगी. सुरक्षा परिषद के सूत्रों ने निर्वाचन की प्रक्रिया पूरी होने पर समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि भारत की उम्मीदवारी का कोई विरोध नहीं हुआ.

राजदूत पुरी अगले दो साल तक सुरक्षा परिषद की काउंटर टेररिज्म समिति के अध्यक्ष रहेंगे. समिति संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों की अपने देश और इलाके में आतंकवादी हमले को रोकने की क्षमता बढ़ाने के लिए काम करती है. इसका गठन 2001 में अमेरिका पर आतंकी हमले के बाद किया गया था. पुरी तुर्की के राजदूत एर्तुग्रुल अपाकान की जगह ले रहे हैं जिनका कार्यकाल 31 दिसंबर 2010 को समाप्त हो गया.

19 साल के बाद फिर से सुरक्षा परिषद का सदस्य चुने गए भारत ने कहा है कि दो साल की सदस्यता के दौरान उसकी प्राथमिकता आतंकवाद विरोधी कार्रवाई होगी. पुरी ने कहा, "हमारी प्रमुख चिंताओं में से एक आतंकवाद है. आने वाले महीनों में हमें परिषद के काम के जरिए इस पर ध्यान देना होगा."

पुरी को सोमालिया और एरिट्रिया पर सुरक्षा परिषद की समिति का भी अध्यक्ष चुना गया है. इस पद पर पहले मेक्सिको था. सोमवार को सुरक्षा परिषद में जनवरी के लिए परिषद का एजेंडा तय करने के लिए अनौपचारिक बैठक हुई. इस महीने परिषद की अध्यक्षता बोस्निया हैर्त्सेगोविना के पास है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री