1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

भारतीय हॉकी की कमान 83 साल की स्टोक्स को

भारत के पूर्व हॉकी खिलाड़ी परगट सिंह को भारी अंतर से हरा कर 83 साल की विद्या स्टोक्स हॉकी इंडिया की अध्यक्ष बन गई हैं. नरिंदर बत्रा महासचिव पद पर बरकरार. खेल के नाम पर गुटों की लड़ाई.

default

हॉकी इंडिया के चुनावों में पूर्व राष्ट्रीय कप्तान और पंजाब हॉकी के महासचिव परगट सिंह को सिर्फ 21 वोट मिले, जबकि उम्रदराज विद्या स्टोक्स को 41 वोट मिले. जीत के साथ ही स्टोक्स हॉकी इंडिया की अध्यक्ष चुन ली गईं.

स्टोक्स ने सरकार और उम्र की बड़ी बाधा को पार कर यह चुनाव जीता है. कई पक्षों की दलील थी 83 साल की स्टोक्स चुनाव नहीं लड़ सकती हैं. विवादों के चलते हॉकी इंडिया के चुनाव चार बार टाले जा चुके थे. दिल्ली और बॉम्बे हाई कोर्ट के फैसलों से भी चुनाव की तारीखें बदलीं.

दिल्ली हाई कोर्ट ने उम्र के मामले में सरकार से सफाई मांगी थी. जबकि बॉम्बे हाई कोर्ट में भी महाराष्ट्र हॉकी संघ ने ऐसी ही याचिका दायर की थी. हालांकि इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने मामले में दखल दिया और चुनावों को हरी झंडी दी.

महासचिव पद पर फिर से नरिंदर बत्रा ने कब्जा किया है. उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी गुंजम हैदर को 41-18 से हरा दिया. हैदर हॉकी अरुणाचल के महासचिव हैं. भारतीय हॉकी पर नजर रखने वाले कहते हैं कि चुनाव एक तरह की गुटबाजी ही हैं. स्टोक्स कैंप के एक और उम्मीदवार की जीत हुई. ट्रेजरर की पोस्ट पर मुश्ताक अहमद की जीत हुई.

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: ए जमाल

DW.COM

WWW-Links