1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारतीय वायुसेना की चेतावनी

भारतीय वायुसेना के अध्यक्ष ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर संघर्ष विराम का उल्लंघन हुआ तो भारत को दूसरे विकल्प देखने होंगे. वहीं पीओके में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तानी सेना की हलचल भी बढ़ रही है.

भारतीय वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल एनएके ब्राउन ने शनिवार को सख्त लहजे में कहा, "हमारे बीच एक नियंत्रण रेखा है, हमारे बीच संघर्ष विराम का समझौता है. हमारे पास एक ऐसा ढांचा और तंत्र है जिसका उल्लंघन नहीं किया जा सकता. इन चीजों का उल्लंघन, खासतौर पर बीते कुछ महीनों से जो कुछ हो रहा है वह पूरी तरह अस्वीकार्य है."

भारत के रक्षा मंत्री और सेना प्रमुख से मुलाकात के बाद ब्राउन ने कहा, "हम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं, अगर ऐसी ही स्थिति जारी रही और उल्लंघन जारी रहा तो शायदा हमें कुछ और विकल्पों को लागू करने पर विचार करना पड़ सकता है."

वायुसेना प्रमुख से जब यह पूछा गया कि वह किन विकल्पों की बात कर रहे हैं तो उन्होंने कहा, "विकल्प, विकल्प होते हैं. हम ऐसे विकल्पों की सार्वजनिक मंच पर चर्चा नहीं करते. अगर उल्लंघन जारी रहा तो हमें पूरे मामलों को दोबारा से देखना होगा."

भारत और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच नौ साल बाद नियंत्रण रेखा पर इस कदर झड़प हुई है. संघर्ष में दोनों देशों के दो-दो जवानों की मौत हो चुकी है. सीमा पर तनाव है. भारत नई दिल्ली में तैनात पाकिस्तानी उच्यायुक्त को तलब कर चुका है. इस्लामाबाद भी भारतीय उच्चायुक्त से जवाब मांग रहा है.

कैसे हुई शुरुआत

पाकिस्तान के मशहूर अखबार डॉन के मुताबिक बीते साल अक्टूबर में भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा के पास अपने इलाके में एक बंकर बनाना शुरू किया. पाकिस्तानी सेना ने लाउडस्पीकर के जरिए ऐसा न करने की चेतावनी दी. पाकिस्तान ने कहा कि नियंत्रण रेखा के 500 मीटर के दायरे में ऐसे किसी निर्माण पर पाबंदी है. वहीं भारतीय पक्ष ने दलील दी कि बंकर का मुंह नियंत्रण रेखा की तरफ नहीं बल्कि गांव की तरफ है. भारतीय अधिकारियों के मुताबिक नियंत्रण रेखा पर तार बाड़ लगाते समय भी पाकिस्तान ने ऐसा रुख अपनाया था. अक्टूबर में पाकिस्तान की तरफ से चेतावनी के बाद फायरिंग हुई. भारत ने आरोप लगाया कि फायरिंग में उसके आम लोग मारे गए हैं.

डॉन के मुताबिक इस घटना के बाद से ही नियंत्रण रेखा पर तनाव बढ़ता गया. बीते हफ्ते पाकिस्तान ने आरोप लगाया कि भारतीय सैनिकों ने नियंत्रण रेखा पार की और इस दौरान उसकी कार्रवाई में पाकिस्तान के एक सैनिक की जान गई. भारत ने आरोपों का खंडन किया लेकिन यह माना कि सीमा पर गोलीबारी हुई है. दो दिन बाद भारत ने आरोप लगाया कि पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पार कर पुंछ में दो भारतीय जवानों की बर्बर तरीके से हत्या की है.

सीमा पर जमावड़ा

भारत के दो जवानों की मौत के बाद तो तनाव उबाल मार गया. दोनों तरफ से भारी गोलीबारी हुई. गोलीबारी में एक पाकिस्तानी सैनिक की मौत हो गई. डॉन के मुताबिक पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के नियंत्रण रेखा से सटे इलाके में सैन्य गतिविधि बढ़ गई है. पाकिस्तानी कश्मीर के कोटली जिले के नवीद चौधरी का हवाला देते हुए अखबार ने लिखा है, "मैंने छोटी और बड़ी गाड़ियों में सेना की कुछ बढ़ती हलचल देखी है. यह बहुत असामान्य है और हमारा क्या होगा, इसकी चिंता सता रही है."

ओएसजे/आईबी (पीटीआई)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री