1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

भारतीय मूल की बच्ची ने जीती स्पैलिंग प्रतियोगिता

भारतीय मूल की अमेरिकी बच्ची ने फिर जीती स्पैलिंग प्रतियोगिता. 14 साल की अनामिका वीरामणि ने अमेरिकी स्पैलिंग बी कॉन्टेस्ट जीता. अनामिका ने मेडिकल साइंस के कठिन शब्द की स्पेलिंग आसानी से बता दी.

default

Stromuhr (स्ट्रोमोर) शब्द का सही उच्चारण करते ही अनामिका वीरामणि ने स्पैलिंग बी कॉन्टेस्ट और 40 हज़ार अमेरिकी डॉलर का इनाम जीत लिया. भारतीय मूल की अनामिका ओहायो की रहने वाली है. यह लगातार तीसरा साल है जब भारतीय मूल के किसी बच्चे ने यह पुस्कार जीता है. पिछले 12 साल में भारतीय मूल के नौ बच्चों ने यह पुरस्कार जीता है.

अनामिका 2009 के स्पैलिंग कॉन्टेस्ट में पांचवीं आई थी. लेकिन इस बार वॉशिंगटन में तीन दिन तक चली इस प्रतियोगिता में उन्होंने 272 लोगों को पीछे छोड़ा. गोल्फ और डांस में रुचि रखने वाली अनामिका ने सही उच्चारण के साथ बताया कि Stromuhr ऐसा यंत्र है जो नसों में खून के बहाव की तीव्रता बताता है.

स्पैलिंग प्रतियोगिता बीते एक दशक में अमेरिका में काफी मशहूर और प्रतिष्ठित हो चुकी है. इसे जीतने वाले बच्चों को बेहद काबिल माना जाता है. यही वजह है कि इस स्पैलिंग प्रतियोगिता का फाइनल एबीसी टीवी नेटवर्क सीधा प्रसारण करता है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा मोंढे

संबंधित सामग्री