1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारतीय मीडिया संगठनों ने की पेरिस हमले की निंदा

भारत में विभिन्न मीडिया संगठनों ने फ्रांस की राजधानी पेरिस में बुधवार को व्यंग्य पत्रिका शार्ली एब्दॉ के कार्यालय में हुए आतंकवादी हमले की निंदा की है. कलाकार सुदर्शन पटनायक ने रेत की आकृति बनाकर श्रद्धांजलि दी.

एडिटर्स गिल्ड ने एक बयान में कहा कि यह हमला प्रेस की आजादी पर हमला है और मीडिया जगत को इसका विरोध करना चाहिए. संगठन ने दुनिया के कई हिस्सों में मीडिया पर हमले की बढ़ती घटनाओं पर चिंता व्यक्त की है. पेरिस में शार्ली एब्दॉ पत्रिका के कार्यालय पर हुए आतंकवादी हमले में चार कार्टूनिस्टों समेत 12 लोग मारे गए हैं.

विदेशी पत्रकारों के संगठन फॉरेन कॉरेसपोंडेंट क्लब ऑफ साउथ एशिया ने इसे मानवता और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के खिलाफ अपराध बताते हुए कहा कि आतंक की ऐसी घटनाओं से पत्रकार विचलित नहीं होंगे और अपना काम करते रहेंगे.

भारतीय प्रेस क्लब पीसीआई ने इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और लोकतंत्र पर हमला बताया. संगठन ने हमले में मारे गए साहसिक पत्रकारों के जज्बे की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने धमकियों की परवाह न करते हुए अपना काम जारी रखा. पीसीआई इस घटना के खिलाफ एक विरोध मार्च का आयोजन कर रहा है.

अखिल भारतीय मुस्लिम मजलिस-ए-मुशावरत ने इस हमले की कड़ी निंदा करते हुए इसे इस्लाम की शिक्षाओं के खिलाफ बताया है. संगठन के अध्यक्ष डा. जफरू इस्लाम खान ने कहा कि इस्लाम और मुस्लिम किसी भी धर्म और राष्ट्रीयता के निर्दोष लोगों की हत्या के खिलाफ हैं.

बालू से कलाकृति बनाने वाले कलाकार सुदर्शन पटनायक ने पुरी के समुद्र तट पर रेत की आकृति बनाकर पेरिस में हुए आतंकवादी हमले की निंदा की है. पटनायक ने "गोली कलम को रोक नहीं सकती" नामक संदेश के साथ आठ फुट ऊंची कलाकृति बनाकर हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा कि वह सदैव शांति में विश्वास रखते हैं, "मैं पत्रकारों और मासूम लोगों पर हुए इस प्रकार के आतंकी हमलों की कड़ी निंदा करता हूं और पीड़ितों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं."

एमजे/आईबी (वार्ता)

संबंधित सामग्री