1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

भारतीय बल्लेबाजी को तार तार कर देंगे: जयवर्धने

कोलंबो टेस्ट में पिच भले ही बल्लेबाजों का स्वर्ग मानी जा रही हो लेकिन श्रीलंका के कप्तान महेला जयवर्धने को पूरी उम्मीद है कि वह भारत की मजबूत बल्लेबाजी की कमर तोड़ देंगे. गॉल में पहला टेस्ट हार चुकी है टीम इंडिया.

default

मंगलवार को टेस्ट करियर में 27वां सैकड़ा जड़ने वाले महेला जयवर्धने का दावा है कि भारतीय बल्लेबाजों के खिलाफ उनके स्पिनर पूरी जान लड़ा देंगे. "हमारे पास स्कोर बोर्ड पर रन हैं इसलिए स्पिनर आक्रामक गेंदबाजी करेंगे. लेकिन हम यह भी जानते हैं कि भारत के पास शानदार बल्लेबाज हैं जो देर तक विकेट पर टिकने में सक्षम हैं. हम वीरेंद्र सहवाग और अन्य बल्लेबाजों को काबू में रखने की कोशिश करेंगे. टीम की बल्लेबाजी में दरार डालने के लिए हमें कुछ ही मौके चाहिए."

दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर भारत ने बिना कोई विकेट खोए 95 रन बना लिए हैं. वीरेंद्र सहवाग 64 रन पर और मुरली विजय 22 रन बनाकर क्रीज पर डटे हैं. इससे पहले श्रीलंका ने भारतीय बल्लेबाजों की जबरदस्त धुनाई मंगलवार को भी जारी रखी और 4 विकेट खोकर 642 रन के स्कोर पर पारी घोषित की. कुमार संगकारा ने दोहरा शतक बनाते हुए 219 रन ठोंके, परणविताना ने 100 रन और जयवर्धने ने बेहतरीन 174 रन की पारी खेली.

Virender Sehwag

वीरू से विस्फोट की उम्मीद

जयवर्धने का मानना है कि दूसरा टेस्ट भी श्रीलंका की मुठ्ठी में है लेकिन उन्हें जीत के लिए काफी प्रयास करने की जरूरत है. "विकेट अब भी अच्छा है और हमें बढ़िया खेलना होगा. हम पहली पारी में 10 विकेट उखाड़ना चाहेंगे और फिर कोशिश करेंगे यही प्रदर्शन दूसरी पारी में भी दोहरा सकें." मंगलवार टेस्ट का दूसरा दिन था और एक दिन में 400 से ज्यादा रन बने. जयवर्धने के मुताबिक अगर टेस्ट में ज्यादा रन बनते हैं तो इससे मैच का रोमांच बढ़ता है.

"मुझे लगता है कि टेस्ट क्रिकेट बचा रहेगा. एक दिन में आज 400 से ज्यादा रन बने जो अपने आप में खास बात है. आजकल टेस्ट बोरिंग नहीं है. टेस्ट मैच आकर्षक हैं और उनमें खेलना आसान नहीं है." श्रीलंका की बेहतरीन बल्लेबाजी पर जयवर्धने का कहना है कि भारत की गेंदबाजी में धार नहीं है और इसके चलते श्रीलंका को मदद मिल रही है. "हमें लगता था कि हरभजन सिंह सबसे ज्यादा अनुभवी हैं और वह मैच जिताऊ गेंदबाज हैं. हमारी रणनीति उन्हें नियंत्रण में रखने और आक्रामक बल्लेबाजी करने की थी."

जयवर्धने ने एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया है. किसी एक खास मैदान पर सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड जयवर्धने के नाम हो गया है और उन्होंने डॉन ब्रैडमैन को पीछे छोड़ दिया है. कोलंबो के सिंहलीज स्पोर्ट्स क्लब पर यह उनका 10वां शतक था. इससे पहले ब्रैडमैन ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर 9 टेस्ट मैच शतक जड़े हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ओ सिंह