1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ब्लैक बॉक्स खोजने की बेचैनी

एक महीना बीत जाने के बाद मलेशियाई एयरलाइंस के लापता विमान के ब्लैक बॉक्स की खोज और तेज हो गई है. ताजा सिग्नलों से उम्मीद बढ़ी है लेकिन खतरा इस बात का है कि कहीं ब्लैक बॉक्स की बैटरी खत्म न हो जाए.

ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों ने कहा है कि उन्हें मलेशियाई एयरलाइंस की तलाश के दौरान दो नए पिंग सिग्नल मिले हैं. एक महीने से जारी तलाश में इसके बाद नया उत्साह आया है.

अमेरिकी नौसेना के खास जहाज टोड पिंगर लोकेटर (टीपीएल) को फिर से मिले सिग्नल प्लेन के ब्लैक बॉक्स से आ रहे हो सकते हैं. अभी तक कुल चार पिंग सिग्नल जहाज को मिले हैं. तलाशी अभियान का समन्वयन करने वाली ऑस्ट्रेलियाई एजेंसी के प्रमुख एग्नस हूस्टन इन संकेतों से उत्साहित हैं, "मुझे लगता है कि हम सही इलाके में तलाश कर रहे हैं. लेकिन हमें इस प्लेन का मलबा आंखों से देखना होगा, उसके बाद ही हम पुष्टि कर सकते हैं कि यही एमएच 370 का आखिरी ठिकाना है. मैं अब आशावादी हूं कि हम विमान या विमान का जो भी कुछ बचा है, वो ढूंढ ही लेंगे, जल्दी ही."

हालांकि अभी भी महासागर के जिस इलाके में तलाश की जा रही है, उसका क्षेत्रफल करीब 2000 किलोमीटर का है.

नारंगी रंग के दो बॉक्स, जिन्हें ब्लैक बॉक्स कहा जाता है, उनसे कॉकपिट में हुई बातचीत और विमान के उड़ने के बारे में डाटा मिल सकता है. मलेशियाई एयरलाइंस की एमएच 370 उड़ान 227 यात्रियों और 12 चालक दल के सदस्यों सहित आठ मार्च को गायब हो गई थी. ये क्वालालंपुर से बीजिंग जा रही थी.

सामान्य तौर पर ब्लैक बॉक्स 30 दिन तक संकेत भेजता है. इसलिए इसे ढूंढने में जितनी देर की जाएगी उतनी मुश्किलें तलाश में पैदा होंगी.

11 सैन्य हवाई जहाज, चार सामान्य विमान और 14 जहाज बुधवार को सघन तलाशी अभियान में लगे रहे. पिछले सप्ताहांत में अमेरिकी नौसेना के खास जहाज को दो संकेत मिले थे, जो विमान के ब्लैक बॉक्स से आने वाले संकेतों जैसे थे. पहला दो घंटे से ज्यादा तक था और दूसरा करीब 13 मिनट.

बुधवार को ह्यूस्टन ने जानकारी दी कि पांस मिनट और 25 सेकंड और सात मिनट वाले दो और संकेत दर्ज किए गए हैं. अमेरिकी अधिकारियों ने रॉयटर्स समाचार एजेंसी को बताया कि दोनों सिग्नल 1,300 वर्ग किलोमीटर के इलाके से आए लेकिन उन्हें लगता है कि वे एक ही स्रोत से आने वाला सिग्नल हैं.

खोजी जहाज पर ब्लूफिन-21 नाम की एक पनडुब्बी भी है, जब तलाश का इलाका कम हो जाएगा तो इसे पानी में भेजा जाएगा.

फिलहाल दौड़ समय के साथ है क्योंकि जैसे ही इन ब्लैक बॉक्स की बैटरी खत्म होगी, जो सामान्य तौर पर 30 दिन में खत्म हो जाती है, वैसे वैसे और संकेतों के मिलने की संभावनाएं कम हो जाएंगी.

एएम/एजेए (डीपीए, रॉयटर्स)

DW.COM