1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

"ब्लेड रनर ने गर्लफ्रेंड को मारा"

दुनिया के सबसे मशहूर विकलांग खिलाड़ी दक्षिण अफ्रीका के ऑस्कर पिस्टोरियस को गर्लफ्रेंड की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है. मीडिया ने कयास लगाया है कि पिस्टोरियस ने 30 साल की मॉडल को चोर समझ कर गोली चलाई होगी.

ब्लेड रनर के नाम से मशहूर पिस्टोरियस ओलंपिक में दौड़ने वाले पहले विकलांग खिलाड़ी हैं. लंदन ओलंपिक में वह 4X400 मीटर की दौड़ में सेमीफाइनल तक जगह बना कर इतिहास बना चुके हैं.

दक्षिण अफ्रीका के प्रिटोरिया शहर की पुलिस ने बताया कि सिल्वरलेक्स इलाके में पिस्टोरियस के घर पर 30 साल की महिला की लाश मिली है. पुलिस प्रवक्ता काटलेगो मोगाले ने बताया, "हमने घटनास्थल से 9 मिमी की पिस्तौल बरामद की है और 26 साल के एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है." दक्षिण अफ्रीकी कानूनों के मुताबिक अदालत में चार्जशीट दाखिल करने से पहले आरोपी का नाम औपचारिक तौर पर सार्वजनिक नहीं किया जाता है.

हत्या की धारा

बाद में प्रिटोरिया पुलिस की प्रवक्ता ने बताया कि "26 साल के व्यक्ति" पर हत्या की धारा लगाई गई है. पुलिस ने कहा कि वह पिस्टोरियस की जमानत का विरोध करेगी क्योंकि उनके घर में पहले भी घरेलू हिंसा की खबर आ चुकी है. पुलिस के मुताबिक घटना के वक्त घर में सिर्फ दो लोग थे.

दक्षिण अफ्रीकी मीडिया ने मारी गई महिला की पहचान पिस्टोरियस की गर्लफ्रेंड और टॉप मॉडल रीवा स्टीनकैंप के रूप में की है. स्टीनकैंप दक्षिण अफ्रीका की चर्चित मॉडल थीं और लगभग एक साल से पिस्टोरियस के साथ थीं. पुलिस ने इस बात की पुष्टि नहीं की है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक स्टीनकैंप वेलेंटाइन डे पर पिस्टोरियस को सरप्राइज देना चाहती थीं और छिप कर घर में घुसने की कोशिश कर रही थीं. लेकिन पिस्टोरियस ने उन्हें चोर समझ लिया और उन पर गोली चला दी. पुलिस का कहना है कि स्टीनकैंप के शरीर में कई गोलियां लगी हैं और उनकी मौके पर ही मौत हो गई.

सोशल मीडिया में स्टीनकैंप ने कई बार पिस्टोरियस की तारीफ की है और उन्हें बेहद समझदार व्यक्ति बताया है. उन्होंने पिछले हफ्ते ही लिखा था, "वे बहुत सोच समझकर तोहफे देते हैं."

अपराध वाला देश

दक्षिण अफ्रीका दुनिया के सबसे ज्यादा अपराध वाले देशों में गिना जाता है और लोग अपनी हिफाजत के लिए घरों में हथियार रखते हैं. करीब पांच करोड़ आबादी वाले देश में हर रोज लगभग 50 लोगों की हत्या होती है.

अमेरिका की तरह दक्षिण अफ्रीका में भी हथियार संस्कृति पर सवाल उठते रहे हैं. 2004 में भी एक रग्बी खिलाड़ी रूडी विसाजी ने अपनी 19 साल की बेटी को लुटेरा समझ कर गोली मार दी थी, जिससे उसकी मौत हो गई. विसाजी ने समझा कि कोई लुटेरा आधी रात को उनकी कार चुरा रहा है.

जोहानिसबर्ग शहर के रेडियो 702 के टॉक शो मेजबान रेडी थलाबी ने इस विषय पर कार्यक्रम किया. उन्होंने कहा, "मैं सदमे में हूं और कुछ नहीं बोल सकता हूं. मुझे लगता है कि हथियारों के मालिकाना हक पर बहस होनी चाहिए. क्या आप ऐसी कहानियों को सुनने के बाद सुरक्षित महसूस कर सकते हैं."

पिस्टोरियस यानी जज्बा

ऑस्कर पिस्टोरियस खेल की दुनिया में बेहद सम्मानित नाम हैं. पैदाइशी तौर पर उनके दोनों पैरों में फिबुला हड्डियां नहीं थीं. जब वे सिर्फ 11 महीने के थे तो उनके दोनों पैरों को घुटने के पास से काट देना पड़ा. उन्होंने पहले प्रिटोरिया हाई स्कूल के लिए रग्बी खेलना शुरू किया लेकिन घुटने में चोट लगने के बाद जब उनका इलाज चल रहा था तो 2003 में उन्होंने दौड़ना शुरू किया. तब तक उन्होंने कार्बन फाइबर से बनी पट्टियों को पहनना शुरू कर दिया था.

साल भर बाद 2004 में उन्होंने पहला मुकाबला खेला और 100 मीटर की दूरी 11.72 सेकंड में दौड़ कर नया पैरालंपिक रिकॉर्ड बना दिया. उस वक्त यह रिकॉर्ड 12.2 सेकंड का था. पहले ही पैरालंपिक में उन्होंने 200 मीटर में सोने का पदक जीता. चार साल बाद तीन सोना जीता.

संघर्ष और ओलंपिक

इस समय तक वह साधारण धावकों के साथ दौड़ने के लिए संघर्ष शुरू कर चुके थे. इसके लिए उन्हें लंबी मेहनत करनी पड़ी. 2012 के लंदन ओलंपिक में वह दक्षिण अफ्रीकी टीम के धावक बने और टीम सेमीफाइनल तक पहुंची थी.

पिस्टोरियस दौड़ने के लिए दोनों पैरों में कार्बन फाइबर की बनी पतली पट्टियां पहनते हैं, जिसकी वजह से उन्हें ब्लेड रनर कहा जाता है. हालांकि एक बार कुछ आलोचकों ने शिकायत की थी कि हल्के कार्बन फाइबर से बने होने की वजह से उन्हें इसका फायदा मिलता है और वे तेजी से भाग सकते हैं. उन पर प्रतिबंध भी लगा लेकिन बाद में 2008 में उन्हें दूसरे खिलाड़ियों के साथ मुकाबले की अनुमति दे दी गई.

खेल संगठन भौंचक

पिस्टोरियस से जुड़े ताजा मामले के बाद दक्षिण अफ्रीकी खेल परिसंघ और ओलंपिक समिति ने बयान जारी किए हैं. समिति ने कहा, "दूसरे लोगों की तरह ओलंपिक समिति भी उतनी ही बातें जानती हैं, जितनी सार्वजनिक की गई हैं. बताया जा रहा है कि गलतफहमी में गोली चलाई गई है, जिसकी वजह से एक महिला की मौत हो गई है. इस मुद्दे पर हम कोई टिप्पणी करने की स्थिति में नहीं हैं."

हाई प्रोफाइल धावक पिस्टोरियस के लिए स्पांसर पलकें बिछाए रहते थे. ब्रिटिश टेलीफोन कंपनी बीटी, धूप के चश्मे बनाने वाली ओकले और नाइक उनके प्रमुख स्पांसर हैं.

एजेए/एमजे (एपी, एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

WWW-Links