1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

ब्रॉडवे पर मुगाबे का नाटक

विवादों में घिरा चुनाव जीतने के बाद जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे अब एक नाटक से सुर्खियों में हैं. नाटक दुनिया के सबसे बदनाम नेताओं में एक का दिमाग पढ़ने की कोशिश करती है.

33 साल से सत्ता पर काबिज 89 साल के मुगाबे के आलोचक उन्हें सख्त और जालिम शासक मानते हैं जिसने बार बार चुनावों में गड़बड़ियां की और कभी समृद्धि के कुलांचे भरते देश को जमीन पर ला पटका. कभी औपनिवेशिक ताकतों के खिलाफ संघर्ष के प्रतीक रहे दिग्गज नेता अब ब्रिटिश नाटककार फ्रेजर ग्रेस के "ब्रेकफास्ट विद मुगाबे" में एक निराश मरीज हैं, हालांकि बेहद खतरनाक भी.

यह नाटक टाइम्स ऑफ लंदन में जिम्बाब्वे के बेहद तनाव भरे 2002 के चुनावों के दौरान लिखे एक लेख से पैदा हुआ. इन चुनावों में मुगाबे ने अपने पुराने प्रतिद्वंद्वी मॉर्गन स्वांगिराई के खिलाफ मामूली अंतर से जीत हासिल की थी. पर्यवेक्षकों और विपक्षियों ने इस चुनाव को धांधली से भरा कहा. रिपोर्ट में कहा गया कि मुगाबे को एक सरकारी घर में बंद कर दिया गया था क्योंकि एक मरे हुए कॉमरेड की भटकती आत्मा उनके पीछे पड़ गई थी. यह भी कहा गया कि एक मनोचिकित्सक को मदद के लिए बुलाया गया.

Simbabwe Wahlen 31.07.2013 Mugabe

पत्नी ग्रेस और बेटी बोना के साथ मुगाबे

रिपोर्ट सही थी कि नहीं यह तो नहीं पता लेकिन इसमें पश्चिमी अंदाज के मनोविज्ञान और अफ्रीकी आध्यात्मिक मान्यताओं का घालमेल था. उसके साथ औपनिवेशिक दौर के बाद की पहेली भी. फ्रेजर ग्रेस की दिलचस्पी जग गई. उन्होंने समाचार एजेंसी एएफपी से कहा, "इसमें कोई संदेह नहीं कि उनके कुछ तौर तरीके सरासर गलत हैं लेकिन दिलचस्प यह है कि उनका अनुभव बहुत हद तक नेल्सन मंडेला जैसा भी रहा है, जैसे मुक्ति, जेल. दोनों ने औपनिवेशिक दौर में अपमान और अत्याचार झेला. मेरा कहना है यह है कि अत्याचारी पैदा नहीं होते, बनाए जाते हैं." अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बने नेल्सन मंडेला को रंगभेद के खिलाफ अपने देश को एक करने का श्रेय दिया जाता है.

नाटक में केवल चार पात्र हैं. मुगाबे, उनकी पत्नी ग्रेस, अंगरक्षक गाब्रिएल और जिम्बाब्वे की गोरी मनोवैज्ञानिक एंड्र्यू पेरिक. पेरिक का किरदार निभा रही एज्रा बेरनेस पहले मुगाबे की पत्नी ग्रेस का किरदार पाने की होड़ में थीं. सेक्रेटरी से प्रेमिका बनी ग्रेस ने मुगाबे की पहली पत्नी के मरने के तुरंत बाद ही उनसे शादी कर ली. अपनी भड़कीली जीवनशैली के लिए विख्यात ग्रेस को जिम्बाब्वे में "पहली खरीदार" कहा जाता है. ग्रेस का किरदार रोसलिन कोलमन निभा रही हैं.

Broadway's SPIRIT OF CHRISTMAS Capito Theater Düsseldorf

मशहूर ब्रॉडवे थियेटर में मुगाबे

मुगाबे की भूमिका माइकल रोजर्स ने बहुत सटीक निभाई है, मनोचिकित्सक से मदद मांगते हैं और श्वेत लोगों से लड़ाई भी है, तनाव, झंझावात और भावनाओं से भरी उनकी बातचीत असर छोड़ती है. जब मनोचिकित्सक मुगाबे से आत्मा के बारे में सवाल करती है तो राष्ट्रपति उस पर अपने चिरपरिचित गुस्से से चीख पड़ते हैं. पेरिक के साथ सवाल जवाबों के दौर मुगाबे को डराने वाले दानवों को सामने लाते हैं, पहली पत्नी को धोखा, बचपन में ही पिता के जरिए छोड़ दिया जाना, 11 साल की जेल. उस समय की सरकार ने मुगाबे को अपने चार साल के बेटे के अंतिम संस्कार में शामिल होने की इजाजत भी नहीं दी. नाटक एक नेता को भड़काने वाली चीजों के बारे में सोचने पर विवश करती है.

नाटक का पहला शो लंदन के थिएटर में 2005 में हुआ. पहले यह वेस्ट एंड में हुआ और अब न्यू यॉर्क में धूम मचा रहा है. नाटक का शो 6 अक्टूबर तक चलेगा.

एनआर/एमजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री