1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ब्रेस्ट इंप्लांट घोटाले में जर्मन कंपनी फंसी

जानी मानी जर्मन सर्टिफिकेशन कंपनी टीयूवी स्तन इंप्लांट को लेकर परेशानी में है. कंपनी ने फ्रांस में बने ब्रेस्ट इंप्लांट को मान्यता दी थी. बाद में पता चला कि इनमें घटिया क्वालिटी का सिलिकोन डाला गया है.

default

विवादित ब्रेस्ट इंप्लांट

फ्रांस के दक्षिण में तूलों शहर की अदालत ने यह बात कही है. अदालत ने अपने बयान में कहा, "कंपनी ने जांच और निगरानी में जिम्मेदारी नहीं निभाई." अदालत ने टीयूवी राइनलैंड को आदेश दिए हैं कि वह इंप्लांट बेचने वालों और इंप्लांट का इस्तेमाल कर रही महिलाओं को मुआवजा दे. टीयूवी के खिलाफ बुलगारिया, ब्राजील, इटली, सीरिया, मेक्सिको और रोमानिया के छह डिस्ट्रिब्यूटरों ने मामला दर्ज किया था. अदालत ने टीयूवी राइनलैंड को आदेश दिए हैं कि वह हर मरीज को 3000 यूरो का मुआवजा दे.

Jean-Claude Mas Brustimplantate Poly Implant Prothese

पीआईपी के स्थापक ज्यां क्लोद मा

टीयूवी राइनलैंड के खिलाफ इस मामले में 1600 ऐसे लोग शामिल थे जिन्होंने यह इंप्लांट लगवाए. इसे पॉली इंप्लांट प्रेथेस पीआईपी नाम की कंपनी बनाती है. तूलों में पीआईपी के स्थापक ज्यां क्लोद मा और कंपनी के चार और अधिकारियों के खिलाफ अलग से कार्रवाई हो रही है. मा और पीआईपी के अधिकारियों के खिलाफ अगर सबूत साबित होते हैं तो उन्हें पांच साल तक की जेल हो सकती है. उधर टीयूवी का कहना है कि उसका काम इंप्लांट में लापरवाही से हुई गलतियों को ढूंढना था और जान बूझकर धोखेबाजी को खोज निकालना इस काम में शामिल नहीं है.

TÜV Rheinland Hochhaus Köln

विवाद में फंसी टीयूवी राइनलैंड का कोलोन में दफ्तर

दुनिया भर के 65 देशों में करीब चार लाख महिलाएं पीआईपी के बनाए हुए इंप्लांट लगवा चुकी हैं. 2011 में जब यह मामला सामने आया तो हजारों महिलाओं ने अपने इंप्लांट निकलवा लिए. उन्होंने स्तन इंप्लांट के लिए घटिया क्वालिटी के सिलिकोन का इस्तेमाल किया था. इससे इंप्लांट स्तन के अंदर रहते हुए फट सकता है. इस सिलिकोन का इस्तेमाल आम तौर पर गद्दों में किया जाता है. कई टेस्टों में पता चला है कि पीआईपी के इंप्लांट में भारी धातुओं का इस्तेमाल किया गया है.

एमजी/एजेए (डीपीए, एएफपी)

DW.COM