1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ब्रिटेन में सरकारी पैसे से दूसरा हिंदू स्कूल

ब्रिटेन में सरकारी पैसे से दूसरा हिंदू स्कूल भी जल्दी ही खुल जाएगा. नया स्कूल लिसेस्टर के पूर्वी मिडलैंड्स टाउन में खुलेगा यहां बड़ी संख्या में भारतीय लोग रहते हैं. कैमरन सरकार ने सोमवार को इस प्रस्ताव पर मुहर लगा दी.

default

ब्रिटेन का पहला सरकारी हिंदू स्कूल कृष्णा अवंती प्राइमरी स्कूल 2008 में लंदन के उपनगर हैरो में शुरू हुआ. ब्रिटिश सरकार के शिक्षा विभाग ने सोमवार को लिसेस्टर में 16 स्कूलों के प्रस्ताव को मंजूरी दी जिनमें एक हिंदू स्कूल भी शामिल है. इस इन सभी स्कूलों के 2011 में शुरू होने की उम्मीद है. अब स्कूल चलाने वाले आई फाउंडेशन के निदेशक स्कूल का बिजनेस प्लान बना कर शिक्षा विभाग को अंतिम मंजूरी के लिए देंगे.

Manager zum Unterricht in die Schule

लिसेस्टर का स्कूल एविंगटॉन में होगा और इसमें 4-11 साल की बीच की उम्र वाले 420 छात्रों को दाखिला मिलेगा. स्कूल के लिए जगह का चुनाव कर लिया गया है और इसे खरीदने के प्रस्ताव को भी मंजूरी मिल जाएगी. साल भर के भीतर 60 छात्रों के दाखिले के साथ स्कूल शुरू हो जाएगा.

उम्मीद है कि लिसेस्टर का सरकारी प्राइमरी स्कूल अपने सिद्धांतों, कोर्स, पढ़ाई और नेतृत्व के गुणों कारण लोगों को खूब पसंद आएगा. इन्हीं सब कारणों ने हैरो के स्कूल भी जबरदस्त ढंग से लोकप्रिय हुआ. हैरो स्कूल का सरकारी अधिकारियों ने निरीक्षण किया और कई अनोखे गुणों के लिए उसकी खूब तारीफ की. अधिकारियों के मुताबिक छात्रों ने यहां औसत स्कूलों से ज्यादा सीखा है और उनका व्यवहार ऊंचे दर्जे का है. इसके साथ ही अधिकारियों ने ये देखा कि स्कूल के छात्रों में नैतिक, आध्यात्मिक, सामाजिक और सांस्कृतिक गुणों का विकास भी शानदार ढंग से हुआ है. छात्र स्कूल आने में खूब उत्साह दिखाते हैं. हिंदू मान्यताओं पर आधारित शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से ब्रिटेन के प्राथमिक शिक्षा के अनुरूप है जिसमें पढ़ाई लिखाई को धर्म जितनी ही प्रमुखता दी जाती है.

लिसेस्टर स्कूल के प्रोजेक्ट निदेशक प्रदीप गज्जर ने बताया "स्थानीय स्तर पर सरकारी हिंदू स्कूल की जबरदस्त मांग है. लोग अच्छी शिक्षा के साथ हिंदू मान्यताओं के मुताबिक बढ़िया संस्कार को भी पसंद करते हैं." स्कूल में सभी धर्मों के लोग आएं इस लिए सिर्फ आधी सीटें ही हिंदू छात्रों के लिए होंगी, बाकी सीटों पर दूसरे धर्मों के छात्रों को दाखिला मिलेगा.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ओ सिंह

WWW-Links