1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

ब्रिटेन जारी करेगा खुशहाली सूचकांक

ब्रिटिश सरकार ने नई पहल करते हुए देश में पहली बार खुशहाली का सूचकांक जारी करने का फैसला किया है. इसमें जनता की मानसिक खुशी और पर्यावरण की कुशलता का उतार चढ़ाव दिखाया जाएगा.

default

खुशहाल जोड़ा

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन सांख्यकीय विभाग से हैपीनेस इंडेक्स तैयार करने को कहेंगे. विभाग को उन तरीकों का ईजाद करना होगा जिनसे लोगों की खुशहाली को मापा जा सके. ब्रिटिश अखबार गार्डियन में सरकारी सूत्रों के हवाले से प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है. इसके मुताबिक खुशहाली सूचकांक जारी करने का मकसद आम जनजीवन के बारे में नए आंकड़े जुटाना

Die Happy

कितने खुश हैं लोग

है ताकि पता चल सके कि ब्रिटेन की जनता मानसिक और शारीरिक रूप से कितनी दुरुस्त है.

इसी के आधार पर सरकार जनता के लिए अपनी भविष्य की नीतियां भी बनाएगी. हालांकि मौजूदा हालात में बनने जा रहे इस इंडेक्स में लोगों की खुशी का ग्राफ ऊपर न होने की बात सामने आने का खतरा भी सरकार के सामने मौजूद है, क्योंकि खर्चों में कटौती के नाम पर बजट में की जा रही कमी से ब्रिटिश जनता बेहद खफा है.

कनाडा में भी इस तरह का इंडेक्स शुरू करने की संभावनाएं तलाशी जा रहीं है जबकि फ्रांस में राष्ट्रपति निकोला सारकोजी पिछले साल ही कह चुके हैं कि खुशहाली सूचकांक जनता की नजर में सरकार के कामकाज और देश की आर्थिक तरक्की को परखने का बेहतर उपाय है और उनकी सरकार इसे शुरू करने की मंशा रखती है.

हालांकि ब्रिटेन में सरकार लोगों की अपने जीवन से संतुष्टि को जानने के लिए अक्सर सर्वेक्षण कराती रहती है लेकिन खुशहाली सूचकांक अपने आप में एक नई पहल है. इसे जारी करने वाला ब्रिटेन पहला देश होगा.

रिपोर्टः एएफपी/निर्मल

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links