1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ब्रिटेन और फ्रांस में भारी तूफान

दक्षिणी ब्रिटेन और फ्रांस के कई हिस्से भारी तूफान से जूझ रहे हैं. बिजली चली गई है और यातायात में रुकावट पैदा हो गई है. मौसम विज्ञानियों के मुताबिक यह ब्रिटेन में हाल के सालों का सबसे बुरा तूफान है.

ब्रिटेन में तूफान के कारण दो लोगों की मौत हो गई है और कई घरों को भारी नुकसान पहुंचा है. सोमवार रात से जारी तूफानी हवाओं के कारण ब्रिटेन और फ्रांस के कई इलाकों में बिजली चली गई है और इस वजह से रोजमर्रा के कामकाज पर बुरा असर पड़ा है.

सोमवार सुबह केंट काउंटी में एक घर पर पेड़ गिर जाने के कारण 17 साल की एक लड़की गंभीर रूप से घायल हो गई. वॉटफर्ड में पेड़ गिरने के कारण कुचली गई एक कार में एक आदमी की मौत हो गई तो पूर्वी इंग्लैंड के ससेक्स में हवा इतनी तेज थी कि 14 साल का लड़का समंदर किनारे से उड़ कर समंदर में डूब गया. बड़ी लहरों के कारण रविवार को तलाशी अभियान रोक देना पड़ा.

Sturm in England Deutschland Frankreich 28. Oktober 2013

टूट गई क्रेन

लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर करीब 130 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं. सेंट्रल लंदन से गैटविक और स्टैंफर्ड जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेन सर्विस तूफान के कारण रद्द कर दी गई है. लंदन के कुछ हिस्सों में अंडरग्राउंड रेलवे पर भी असर पड़ा है.

फ्रांस के पश्चिमी और उत्तरी इलाकों में करीब 65 हजार घरों में बिजली नहीं है. वहां करीब 139 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चल रही है जबकि ब्रिटिश अधिकारियों के मुताबिक उनके यहां आइल ऑफ विट में हवा की रफ्तार 160 किलोमीटर प्रतिघंटा थी.1987 के अक्टूबर में ग्रेट स्टॉर्म के कारण इंग्लैंड में भारी नुकसान हुआ था. उस समय ब्रिटेन में 18 और फ्रांस में चार लोग मारे गए थे. 180 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार के कारण डेढ़ लाख पेड़ उखड़ गए थे और करीब एक अरब डॉलर की संपत्ति का नुकसान हुआ था.

एएम/एनआर (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री