1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ब्राजील बुला रहा है

विदेशी कामगारों का अपने देश में आना और आसान बनाने के लिए ब्राजील कानून में बदलाव करने जा रहा है. कानून में सुधार कर ब्राजील श्रमिकों की कमी को पूरा करना चाहता है.

दक्षिण अमेरिकी देश ब्राजील अपने यहां दुनिया भर से डॉक्टर, इंजीनियर और तकनीकी कुशलता वाले प्रशिक्षित विदेशी लोगों को लाना चाहता है. ब्राजील के कूटनीतिक मामलों के मंत्री मार्सेलो नेरी का मानना है कि देश में आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए यह कदम उठाना जरूरी है. इसके लिए देश के आप्रवासन कानून में बदलाव लाया जाएगा.

जाननी होगी भाषा

मार्सेलो नेरी ने बताया कि ब्राजील ऐसे देशों से अनुभवी पेशेवरों को लाना चाहता है जहां की भाषा ब्राजील की भाषा से मिलती जुलती हो. इनमें स्पेन, पुर्तगाल, इटली और लातिन अमेरिकी देश शामिल हैं. नेरी कहते हैं, "हम प्रतिभाशाली लोगों को आकर्षित करना चाहते हैं. इसके लिए हमें ऐसे कुशल कामगारों के लिए आप्रवासन नियमों में सुधार करने होंगे जो ब्राजील में आकर काम करना चाहें."

ब्राजील को विदेशी पेशेवरों की सख्त जरूरत है. नेरी ने बताया कि अभी ब्राजील में लगभग "पूर्ण रोजगार" की स्थिति बन रही है. अगर अभी विदेशी कामगारों को वहां नहीं लाया गया तो ब्राजील के आर्थिक विकास को आगे जारी रखना मुश्किल हो जाएगा. नवंबर 2013 में देश में बेरोजगारी दर 4.6 फीसदी दर्ज की गई जो 2002 के बाद से अब तक का सबसे निचला स्तर है.

वीजा में आसानी

पिछले साल ब्राजील में "मोर डॉक्टर्स" यानि दूसरे देशों से डॉक्टरों को लाने का कार्यक्रम शुरू किया गया. इस कार्यक्रम के तहत क्यूबा से करीब 5,000 डॉक्टर ब्राजील के उन गरीब इलाकों में काम करने के लिए पहुंचे जहां चिकित्सक और स्वास्थ्य सुविधाएं बहुत कम हैं.

Symbolbild Brasilien Infrastruktur Bauwirtschaft

आर्थिक विकास को जारी रखने के लिए ब्राजील समय रहते विदेशी कामगारों को लाना चाहता है.

नेरी ने बताया कि उनका मकसद विदेशी कामगारों का अपने देश में आना और आसान बनाना है. इसके लिए कानून में बदलाव के साथ साथ ब्राजील के लिए वर्क वीजा लेना भी आसान बनाना होगा. विदेशी पेशेवरों को इस बात की भी सुविधा देनी होगी कि अगर वे ब्राजील में आने के बाद नौकरी बदल लें, तो इसके लिए उन्हें नया वीजा न लेना पड़े.

विकास के लिए जरूरी

नेरी ने पेशेवरों को ब्राजील लाने के लिए किसी समय सीमा के बारे में कुछ नहीं बताया लेकिन जोर देते हुए कहा, "ऐसे बहुत से क्षेत्र हैं जहां उनकी जरूरत है." फुंडाकाओ डोम काब्राल बिजनेस स्कूल की हाल ही में हुई एक स्टडी में पाया गया कि सर्वे में शामिल कुल 167 कंपनियों में से 91 प्रतिशत को प्रशिक्षित तकनीकी लोगों, मिस्त्री, प्रशासनिक सेवा और प्रोजेक्ट मैनेजरों को काम पर रखने में दिक्कत का सामना करना पड़ा. सर्वे के संचालक पाउलो रेसेंडे का मानना है, "प्रशिक्षित लोगों की कमी ब्राजील में एक बहुत बड़ी रुकावट बन गई है और आने वाले समय में इस स्थिति में सुधार के भी कोई लक्षण नहीं दिख रहे हैं."

नेरी बताते हैं कि 20 करोड़ से ज्यादा की आबादी वाले देश ब्राजील में विदेशी लोगों की संख्या बहुत कम है. यहां रहने वाले लोगों में केवल 0.3 प्रतिशत ब्राजील के बाहर पैदा हुए, जबकि पूरे विश्व में ऐसे विदेशी लोगों की संख्या का औसतन तीन प्रतिशत है.

ब्राजील की सरकार और बाजार के जानकारों का मानना है कि 2013 में देश की जीडीपी में 2.3 फीसदी की वृद्धि हुई है. इस साल बाजार विश्लेषक दो प्रतिशत वृद्धि का अनुमान लगा रहे हैं. लेकिन सरकार को उम्मीद है कि प्रशिक्षित विदेशी श्रमिकों को अगर ब्राजील आने के लिए आकर्षित किया जाए तो देश में विकास के चक्र को तेज किया जा सकता है.

आरआर/आईबी (एपी,एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री