1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ब्राजील को चिली से खतरा

नेमार के दोहरे गोल की मदद से ब्राजील ने आखिरी ग्रुप मुकाबला शानदार तरीके से 4-1 से जीत लिया लेकिन अब उसे चिली से खेलना है और ब्राजीली कोच यह नहीं चाहते थे. नीदरलैंड्स ने पहले राउंड के सभी मुकाबले जीते.

ब्राजील के कोच स्कोलारी का कहना है, "मुझे अब अच्छा अहसास हो रहा है कि हम क्वालीफाई कर गए हैं और मैं अपनी टीम के बारे में सोच रहा हूं. मुझे पता है कि वे अगले मैचों में और बेहतर होंगे." लेकिन उन्हें हारी हुई टीम चिली से खतरा नजर आ रहा है, "मैंने चिली के खिलाफ दो बार खेला है और मुझे पता है कि वे कितने खतरनाक हैं. कुछ लोग समझते हैं कि हम चिली को आसानी से हरा देंगे लेकिन वे बेहतरीन साइड हैं. बहुत संभल कर खेलते हैं."

ब्राजील ने एक तरफ कैमरून को 4-1 से हराया, तो दूसरी तरफ नीदरलैंड्स ने अपने ग्रुप में चिली को 2-0 से हराया. इस तरह नीदरलैंड्स अपने ग्रुप में सभी मैच जीतने वाली पहली टीम बन गई. वह पिछले वर्ल्ड कप 2010 में फाइनल तक पहुंची थी, जहां उसे स्पेन से हार का सामना करना पड़ा था. लेकिन इस बार के टूर्नामेंट में उसने पहले ही मैच में स्पेन को 5-1 से बुरी तरह हराया.

Fußball WM 2014 Niederlande vs Chile Jubel

नीदरलैंड्स ने तीनों मैच जीते

लेकिन स्कोलारी को नीदरलैंड्स से ज्यादा खतरा चिली से नजर आ रहा है, "अगर मुझे अपना विरोधी चुनना होता, तो मैं कभी भी चिली को नहीं चुनता." अप्रैल में चिली और ब्राजील का मुकाबला 2-2 से ड्रॉ खेला गया था और वह मैच भी ब्राजील के उसी स्टेडियम में हुआ था, जिसमें उनका अगला मुकाबला होना है.

चिली को हरा कर नीदरलैंड्स के आर्यन रोबेन खुश नजर आए, "हमें जश्न मनाना चाहिए लेकिन यह अभी खत्म नहीं हुआ है. अब हमें अपने माइंडसेट को बदलना होगा और आगे के बारे में सोचना होगा."

ब्राजील के ग्रुप में मेक्सिको ने क्रोएशिया को 3-1 से हरा कर दूसरा स्थान हासिल कर लिया और अब उन्हें नीदरलैंड्स से खेलना है. मेक्सिको और ब्राजील के बराबर अंक हैं लेकिन गोल औसत के लिहाज से ब्राजील बेहतर है और वह ग्रुप में टॉप पर है.

आखिरी मैच में मेक्सिको तीन गोल से आगे चल रहा था और अगर उसने एक गोल और कर दिया होता, तो वह ब्राजील को पछाड़ कर ग्रुप के टॉप पर जा पहुंचता. लेकिन ऐसा नहीं हुआ क्योंकि ब्राजील ने अपना मुकाबला 4-1 से जीत लिया और गोल औसत में मेक्सिको से बेहतर हो गया. मेक्सिको और ब्राजील के बीच खेला गया मैच बेहद रोमांचक था, जिसमें कोई गोल नहीं हुआ था और तब से मेक्सिको के गोलकीपर की तारीफ हो रही है.

सोमवार को एक और मुकाबले में पिछले विजेता स्पेन ने ऑस्ट्रेलिया को 3-0 से हार कर सांत्वना हासिल की. स्पेन पहले के दो मैच हार कर वर्ल्ड कप से बाहर हो चुका है.

एजेए/ओएसजे (एएफपी, डीपीए)

संबंधित सामग्री