1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ब्राजील की राष्ट्रपति रुसेफ की कुर्सी छिनी

ब्राजील की राष्ट्रपति डिल्मा रुसेफ का पद छिन गया है. गुरुवार को उन्हें निलंबित करने और महाभियोग चलाने का प्रस्ताव सीनेट में बहुमत से पास हुआ.

रूसेफ के बाद ब्राजील के उपराष्ट्रपति मिशेल टेमर राष्ट्रपति पद संभालेंगे. सीनेट में भी रूसेफ को हटाने के लिए सहमति बनने के बाद जल्द ही महाभियोग के मामले की जांच शुरु हो जाएगी.

ब्राजील की सीनेट में लगातार 17 घंटे चली बहस के बाद हुई वोटिंग में ब्राजील की पहली महिला राष्ट्रपति के भविष्य का फैसला हुआ. कुल 81 सदस्यों वाली सीनेट में आम बहुमत से ही राष्ट्रपति पर महाभियोग चलाने का फैसला लेने की व्यवस्था है, लेकिन पद से हटाने के लिए दो तिहाई बहुमत की जरूरत होगी. रुसेफ पर बजट संबंधी कानून तोड़ने के आरोपों की जांच के लिए अगले छह महीने के लिए उन्हें राष्ट्रपति पद से निलंबित कर दिया गया.

68 साल की डिल्मा रुसेफ की जगह उनके उपराष्ट्रपति मिशेल टेमर को अंतरिम राष्ट्रपति बनाया जाना है. लैटिन अमेरिका के इस सबसे बड़े देश में पिछले 13 सालों से रूसेफ की वामपंथी वर्कर्स पार्टी की सरकार थी.

टेमर ब्राजील की सेंटर-राइट पार्टी पीएमडीबी के सदस्य हैं और नई सरकार बनाकर वे देश को आर्थिक मंदी से उबारने के मुद्दे पर काम करना चाहते हैं.

रूसेफ मार्क्सवादी गुरिल्ला सेना में भी रह चुकी हैं और 1970 के दशक में देश में सैन्य तानाशाही के दौरान उन्होंने कई अत्याचार सहे. महाभियोग लगाए जाने और पद से हटाने को वे अनुदारवादी तबके का विद्रोह मानती हैं और मुकदमे के दौरान इसके खिलाफ लड़ने की बात कह चुकी हैं.

तीन महीने से भी कम समय में ब्राजील में रियो ओलंपिक का आयोजन होना है. ऐसे में राजनीतिक अस्थिरता, भ्रष्टाचार और आर्थिक गड़बड़ियों का सामने आना देश को गंभीर संकट में डालता दिख रहा है.

ऋतिका पाण्डेय (एएफपी)

#gallerybig#

संबंधित सामग्री