1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ब्राज़ील नीदरलैंड्स से हारकर बाहर हुआ

क्वॉर्टर फ़ाइनल के ज़बरदस्त मैच में नीदरलैंड्स ने ब्राज़ील को 2:1 से रौंद कर पहली टीम के तौर पर सेमीफ़ाइनल में जगह बना ली है. पहले हाफ में ब्राजील को 1-0 की बढ़त मिली लेकिन दूसरे हाफ में दो गोल दागकर नीदरलैंड्स जीती.

default

हालांकि कम से कम शुरु में ब्राज़ील का पलड़ा भारी लग रहा था, और ब्राज़ील के खिलाड़ियों को कई मौक़े मिले थे, लेकिन 18वें मिनट के बाद रोबिन्यो के गोल की बदौलत हाफ़टाईम तक मैच का नतीजा ब्राज़ील के पक्ष में 1:0 ही रहा.

हाफ़टाइम के बाद 53वें मिनट में मेलो के आत्मघाती गोल से मैच का नतीजा 1:1 से बराबर हो चुका था. दोनों टीमें अब लगभग बराबर ताकत से खेल रही थी, और नतीजा कुछ भी हो सकता था.

Flash-Galerie Fußball WM 2010 Südafrika Viertelfinale Niederlande vs Brasilien

एक्शन में ब्राज़ील के गोलकीपर

खेल का पांसा पलट गया 68वें मिनट में, जब रोब्बेन की गेंद को कुइट ने धीरे से स्नाइडर की ओर आगे बढ़ा दिया. स्नाइडर ने कोई गलती नहीं की, और नतीजा हो गया नीदरलैंड्स के पक्ष में 2:1. ब्राज़ील की टीम अब दबाव में थी, और रोब्बेन के ख़िलाफ़ ज़बरदस्त फ़ाउल करने के बाद जापान के रेफ़री युइची निशिमुरा ब्राज़ील के मेलो को लाल कार्ड दिखाने में तनिक भी न हिचके.

Flash-Galerie WM 2010 Brasilien Niederlande

फ़ेलिपे मेलो को रेडकार्ड

ब्राज़ील को अब कम से कम 27 मिनट दस खिलाड़ियों के साथ खेलने थे, और एक गोल की कमतरी दूर करनी थी. उसके खिलाड़ी जी-जान से खेल तो रहे थे, लेकिन बहुत योजनाबद्ध तरीके से नहीं. नीदरलैंड्स की टीम अपने बचाव पर पूरा ध्यान देते हुए बीच-बीच में हमले भी कर रही थी. तीन मिनट का अतिरिक्त खेल भी हुआ, लेकिन नतीजा आख़िरकार 2:1 से नीदरलैंड्स के हक़ में गया.

ब्राज़ील विश्वकप से बाहर हो गया. आज का दूसरा खेल घाना और उरुग्वे के बीच हो रहा है.घाना फ़ुटबॉल एसोसियेशन की ओर से सूचित किया गया है कि उन्हें अफ़्रीका के सबसे सम्मानित नेता नेलसन मंडेला से समर्थन का संदेश मिला है. अपने संदेश में उन्होंने कहा है कि महाद्वीप और उससे बाहर के सभी लोगों के साथ मिलकर हम आपकी कामयाबी की दुआ करते हैं. घाना के स्ट्राइकर असामोआ ग्यान का कहना है कि वे इतिहास की रचना कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि उनके सामने ऐसा कुछ कर दिखाने का मौक़ा है, जो पहले कभी नहीं हुआ है. कोई शक नहीं कि सारा अफ़्रीका उनका समर्थन कर रहा है. अगर आज घाना की जीत होती है, तो पहली बार कोई अफ़्रीकी देश विश्वकप के सेमीफ़ाइनल में होगा.

रिपोर्ट: उज्ज्वल भट्टाचार्य

संपादन: महेश झा

संबंधित सामग्री