1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ब्रसेल्स हमले के बाद ईयू मंत्रियों की आपातकालीन बैठक

पुलिस को अब ब्रसेल्स में हुए आतंकी हमले से जुड़े एक चौथे व्यक्ति की पहचान करनी है. इस बीच यूरोपीय संघ के गृह मंत्री इन आतंकी हमलों से पैदा हुई स्थिति पर चर्चा के लिए गुरुवार को ही मिलने वाले हैं.

वीडियो देखें 01:57

ब्रसेल्स हमलावरों का तलाशी अभियान जारी

ब्रसेल्स में ईयू के गृह मंत्रियों की ये आपातकालीन बैठक हो रही है. दूसरी ओर सुरक्षा अधिकारी उस चौथे शख्स की तलाश में लगे हैं जो मंगलवार को हुए ब्रसेल्स हमलों से जुड़ा था. इस चौथे व्यक्ति की अभी पहचान नहीं हो सकी है. तीन दूसरे लोगों की पुलिस ने शिनाख्त कर ली है. ये हैं नजीम लाखरावी और दो भाई - इब्राहीम और खालिद अल बकरावी.

22 मार्च को ब्रसेल्स में हुआ आतंकी हमला 13 नवंबर को पेरिस हमले के बाद यूरोप में हुआ सबसे खतरनाक हमला रहा. पेरिस हमले में 130 लोगों की जान गई थी जबकि ब्रसेल्स हमले में अब तक 31 लोगों की मौत और 300 से भी अधिक के घायल होने की सूचना है. बेल्जियम की सुरक्षा व्यवस्था को कमजोर बता कर कई पक्षों ने इसकी सुरक्षा नीतियों की निंदा की है. अमेरिकी रक्षा सचिव ऐश कार्टर ने नाटो सदस्य देशों से मध्यपूर्व में चरमपंथ से निपटने के लिए और कदम उठाने की अपील की.

ब्रसेल्स हमले से पैदा हुई स्थिति की समीक्षा के लिए होने वाली यूरोपीय संघ के गृह मंत्रियों की बैठक में आतंकवाद से निबटने के लिए सभी पक्षों के साथ मिलकर एक समन्वित रवैया अपनाने पर चर्चा होगी. इसमें आपसी सहयोग के अब तक तय किए गए कदमों को जल्दी से लागू करने के उपायों पर भी चर्चा होगी.

जिस चौथे व्यक्ति की पहचान अभी नहीं हो पाई है उसकी धुंधली सी तस्वीर एक निगरानी कैमरे में कैद हुई है. सिर पर टोपी लगाए, सफेद जैकेट पहने दिख रहा ये व्यक्ति एयरपोर्ट पर लाखरावी और बकरावी के साथ था. लेकिन जब उसका बम नहीं फूटा तो उसके बाद वह वहां से भागने में कामयाब रहा. यह बम बाद में पुलिस ने बरामद किया और उसे सुरक्षित तरीके से नष्ट कर दिया.

तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तय्यप एर्दोआन के अनुसार, जिन दो भाईयों को आरोपी बताया गया है उनमें से एक इब्राहीम बकरावी को पिछले ही साल तुर्की से प्रत्यर्पित किया गया था. एर्दोआन ने ऐसे अपराधी को ना पकड़ पाने के लिए बेल्जियन पुलिस की निंदा की है. वहीं अन्य आरोपी, लाखरावी को भी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट का पूर्व लड़ाका बताया जा रहा है. आशंका जताई जा रही है कि इसी व्यक्ति लाखरावी ने 13 नवंबर को पेरिस हमले के आत्मघाती हमले में इस्तेमाल किए गए बम वाले बेल्ट बनाए थे. मामले के जांचकर्ताओं को ब्रसेल्स के पास के मोलेनबीक इलाके में इन संदिग्धों के निवास से ऐसे कई सबूत बरामद हुए हैं, जिससे पेरिस और ब्रसेल्स हमलावरों के बीच संबंध का पता चलता है.

आरपी/एमजे (एफपी,एपी)

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री