1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बोको हराम से बचाने के लिए ट्रेनिंग

एक आईटी ट्रेनिंग सेंटर और नए अवसर. आईटी विशेषज्ञ वकील इदी मानते हैं कि ऐसा करके बोको हराम को लड़ाई में चुनौती दी जा सकती है. बोको हराम बेरोजगार युवकों को बहलाकर अपने साथ मिला रहा है.

इदी के ट्रेनिंग सेंटर से करीब 200 नवयुवकों ने कंप्यूटर की मूल ट्रेनिंग हासिल की है. कैमरून के उत्तरी प्रांत कौसरी में शाम के पांच बजे हैं. यह छोटा सा जिला चरी नदी पर बसा है. 34 वर्षीय इदी यहीं पैदा हुए थे. लेकिन बाद में उन्होंने शहर जाकर कंप्यूटर साइंस में डिग्री हासिल की. वह हमेशा से चाहते थे कि वापस लौटकर स्थानीय विकास में योगदान दे सकें. शुरुआत में उन्होंने नौकरी कर इतने पैसे जोड़े कि वह अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकें.

वकील स्थानीय युवा के लिए किसी आदर्श की तरह हैं. उन्होंने क्लासेस के लिए कुछ कमरे किराए पर लिए हैं. यहां स्थानीय लड़के लड़कियां कंप्यूटर इस्तेमाल करना सीखते हैं. इदी बताते हैं उनके यहां से प्रिशिक्षित हुए 200 से ज्यादा युवा में से कई खुद अब उनके सेंटर में काम कर रहे हैं. इदी मानते हैं कि स्थानीय युवा के दक्षिण अफ्रीकी कट्टरपंथी समूह बोको हराम से जुड़ने की एक अहम वजह बेरोजगारी है.

Jobs für Jugend in Kamerun

इदी हमेशा से चाहते थे समाज के विकास में योगदान कर सकें.

ज्ञान से रोजी रोटी

इन दिनों इदी के कंप्यूटर सेंटर पर 75 युवा ट्रेनिंग ले रहे हैं. ट्रेनिंग पूरी होने के बाद जब तक उन्हें कहीं नौकरी नहीं मिल जाती, वे इसी सेंटर पर आने वाले नए छात्रों को ट्रेनिंग देते हैं. कई यूनीवर्सिटी ग्रेजुएट जिन्हें अब तक नौकरी नहीं मिल पाई है, वे भी उनके इंस्टीट्यूट में काम पा रहे हैं.

ट्रेनिंग कर चुके छात्र बहुत ज्यादा तो नहीं कमा रहे हैं लेकिन वे अपने परिवार के लिए खाने पीने का इंतजाम कर सकते हैं. यूनिवर्सिटी ग्रेजुएट 36 वर्षीय हस्सान अब्बासमीर ने डीडब्ल्यू को बताया कैसे इदी ने उनकी मदद की, "2006 में ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद से 10 साल मैं बेरोजगार रहा. मैंने कैमरून में सराकरी नौकरी के लिए कई प्रतियोगी परीक्षाएं दीं लेकिन नाकाम रहा." इसके बाद उन्होंने इदी के इंस्टीट्यूट में दाखिला लिया. अब वह इतना कमा लेते हैं कि अपनी पत्नी और तीन बच्चों का पेट भर सकते हैं.

कट्टरपंथी संगठनों में भर्ती

नाइजीरियाई कट्टरपंथी संगठन बोको हराम पूरे नाइजीरिया, कैमरून, नीगर और चाड में इस्लामिक राज्य की स्थापना की कोशिश कर रहा है. इदी के मुताबिक बोको हराम में भर्ती करने वाले युवाओं को भारी भरकम वेतन का लालच देकर बहला फुसला लेते हैं, "मुझे पता चला कि बोको हराम के पास बेरोजगार युवा वर्ग को झांसे में लेने के लिए संसाधन की कमी नहीं हैं." इदी इस तरह की रकम कभी नहीं दे पाएंगे.

साल 2014 में बोको हराम ने उत्तरी कैमरून में अपना विस्तार करने में कामयाबी पाई है. कैमरून, नाइजीरिया, नीगर और चड में कट्टरपंथी संगठन ने 20 हजार से ज्यादा जानें लीं और 23 लाख से ज्यादा लोग विस्थापित हो गए.

मोकी किंदजेका/एसएफ

DW.COM

संबंधित सामग्री