1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

बॉक्स ऑफिस झूठ भी बोलता है

बॉलीवुड में फिल्म की सफलता का पैमाना इन दिनों 100 करोड़ की कमाई है लेकिन आमिर खान का कहना है कि जहां तक दर्शकों की पसंद का सवाल है, बॉक्स ऑफिस के आंकड़े हर बार सही संकेत नहीं देते.

आमिर की पिछली तीन फिल्में, 3 इडियट्स, गजनी और फना ने 350, 150 और 100 करोड़ रुपये कमाए हैं. इसके बावजूद वे कमाई के आंकड़ों पर बहुत भरोसा नहीं करते. आमिर कहते हैं, "बहुत से लोग फिल्म इसलिए देखने जाते हैं क्योंकि उसमें स्टार है. यह नंबर गलत हो सकते हैं. मेरे लिए सफलता का मतलब है कि जब हम एक रचनात्मक टीम के तौर पर एक फिल्म रिलीज होने से पहले देखते हैं, तो क्या हमें लगता है कि जो हम चाहते थे, हम उसमें सफल हुए. अगर टीम को लगता है कि हम काफी हद तक सफल रहे हैं तो यह सफलता की पहली निशानी है."

आमिर कहते हैं कि फिल्म ने कितना मुनाफा कमाया है, वह एक संकेत तो है ही और इसके जरिए वह जानने की कोशिश करते हैं कि फिल्म का प्रदर्शन कैसा रहा और लोगों ने किस तरह की प्रतिक्रिया दिखाई. आमिर का मानना है कि हिट होने के बावजूद कई बार लोग फिल्म पसंद नहीं करते. वो कहते हैं" मान लेते हैं कि फिल्म ने बढ़िया बिजनेस की लेकिन जब आप लोगों से पूछें कि क्या आपको फिल्म पसंद आई और दस में से केवल छह या सात ही हां कहते हैं. तो फिर क्या यह फिल्म सफल हुई. अगर कोई दूसरी फिल्म आधा ही मुनाफा कमाए और पूछने पर दस में से आठ या नौ कहें कि उन्हें पसंद आई फिल्म, फिर?"

47 साल के आमिर का मानना है कि फिल्म पूरी टीम बनाती है और फिल्म की सफलता का श्रेय केवल अदाकारों को नहीं बल्कि कैमरामैन, संगीतकार, साउंड इंजीनियर और निर्देशक को भी हैं. आमिर अपने को खुशकिस्मत मानते हैं कि उनकी फिल्में इतनी सफल हुई हैं. उनके मुताबिक फिल्म की मार्केटिंग और उसका प्रमोशन बहुत अहम है.

आमिर की नई फिल्म तलाश 30 नवंबर को रिलीज हो रही है. तलाश एक सस्पेंस फिल्म है और आमिर इस वक्त फिल्म की कहानी पर चर्चा नहीं करना चाहते. फिल्म में आमिर ने एक पुलिस अफसर की भूमिका निभाई है. फिल्म का निर्देशन रीमा कागती हैं और इसमें रानी मुखर्जी ने फिल्म में आमिर खान की पत्नी की भूमिका निभाई है. आमिर कहते हैं, "रानी और करीना के साथ काम करना बहुत अच्छा रहा. दोनों अच्छे अदाकार हैं और मेरी उनके साथ पटती भी है. जब आप अच्छे कलाकारों के साथ काम करते हैं तो पूरी छवि जिंदा हो जाती है."

एमजी/एनआर(पीटीआई)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री