1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

बैंग्काक में विपक्ष का प्रदर्शन

थाइलैंड की राजधानी बैंकाक में लाल रंग की टीशर्ट पहने हज़ारों क्रोधित समर्थकों और दंगा पुलिस के बीच में आज झड़प हुई. ये समर्थक संसद को भंग करने और नए चुनाव की मांग कर रहे हैं.

default

प्रदर्शनकारियों से झड़प

रेड शर्ट कहे जाने वाले यूडीपी के सदस्य पिछले चार दिन से थाइलैंड की राजधानी बैंकाक में जम कर प्रदर्शन कर रहे हैं. इस प्रदर्शन के चलते बैंकाक में रोजमर्रा की गतिविधियां ठप हो गई है।

रेड शर्ट नेता नटावुत सइकुअर कहते हैं, हम यहां लड़कर मरने को तैयार हैं. हम अपने तरीके से सरकार से भिड़ेंगे.

सरकार ने इस प्रदर्शन के चलते, प्रदर्शनकारियों को घेरने के लिए भारी पैमाने पर दंगा पुलिस तैनात की थी. शहर के कुछ इलाकों में इकट्ठा होना गैर कानूनी भी बताया गया था. लेकिन गिरफतारी की तमाम चेतावनियों के बावजूद प्रदर्शनकारी पैदल, मोटरसाइकिल और कारों में सवार होकर बैंकाक की सड़कों पर उतर आए. सेना के बैरकों को पार कर प्रदर्शनकारियों ने सड़कों पर खूब तबाही मचाई.

थाइलैंड के ग्रामीण इलाक़ों से आने वाले 'रेड शर्ट' के नाम से जाने वाले प्रदर्शनकारियों का मानना है कि मौजूदा अभिसीत वेजाजीवा की सरकार ग़ैर-कानूनी है और उसे सत्ता में रहने का कोई हक़ नहीं है.

लगभग 50,000 प्रदर्शनकारियों ने शहर के व्यवसायिक केंद्र में सोमवार को भी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया.

इस विरोध प्रदर्शन को सरकार के लिए अब तक की सबसे बड़ी चुनौती माना जा रहा है. सरकार पिछले साल अप्रैल में हुए रेड शर्टस मुठभेड़ को फिर से दोहराना नहीं चाहती.

सरकार के प्रवत्ता पानितन वटानयगोर्न का कहना है कि उन्होने अपने अधिकारियों को ख़ास-तौर से कहा है कि वे किसी भी तरह के बल प्रयोग से बचे.

व्यापार जगत का मानना है कि थाइलैंड में चल रही इस गड़बड़ी के कारण टूरिज़्म और औद्योगिक क्षेत्र को भारी नुकंसान हो सकता है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/श्रेया कथुरिया

संपादन: उज्ज्वल भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री