1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

बेहतरीन हैं अमेरिकी यूनिवर्सिटियां

दुनिया की बेहतरीन यूनिवर्सिटियों की सूची में इस साल भी हार्वर्ड को कोई टक्कर नहीं दे पाया है. हार्वर्ड 2003 से लगातार पहले नंबर पर है. टॉप 20 यूनिवर्सिटियों में 17 नाम अमेरिका से हैं.

केवल तीन गैर अमेरिकी यूनिवर्सिटियां अपना नाम बेहतरीन 20 की सूची में दर्ज करा पाई हैं और ये तीनों यूरोप की हैं. पांचवें स्थान पर है ब्रिटेन की कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी, 10वें पर ऑक्सफोर्ड और 20वें पर ज्यूरिख की स्विस फेडरल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी.

इस सूची को तैयार किया है शंघाई की जियाओटोंग यूनिवर्सिटी ने. 2003 से यह सूची तैयार की जा रही है और तब से अब तक लगातार अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ही अव्वल बनी हुई है. जियाओटोंग चीन की तीसरी सबसे अच्छी यूनिवर्सिटी मानी जाती है. इस सूची में वह 167वें स्थान पर है. दरअसल इस सूची को बनाने के पीछे मकसद था कि चीन की दुनिया से तुलना की जा सके और इससे देश के विश्वविद्यालयों को बेहतर बनाने में मदद मिले.

500 में केवल एक भारतीय

हालांकि जियाओटोंग पर विज्ञान से जुड़े क्षेत्रों पर जोर देने और मानविकी को नजरअंदाज करने के भी आरोप लगते आए हैं. यूरोप की कई यूनिवर्सिटियों का यह आरोप है कि मानविकी के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद इस सूची में उन पर कोई ध्यान नहीं दिया गया. जबकि जियाओटोंग के सेंटर फॉर वर्ल्ड क्लास यूनिवर्सिटीस ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि सूची विश्वसनीय है और इसे पारदर्शी रूप से तैयार किया गया है.

Sieg des Oxford-Achters gegen Cambrigde

पारंपरिक ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी 10वें नंबर पर

दूसरे, तीसरे और चौथे स्थान पर रहीं अमेरिका की स्टैंडफोर्ड, यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया एट बर्कले और मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी). दरअसल टॉप 10 की सूची में कोई खास फेरबदल हुए ही नहीं हैं. केवल बर्कले और एमआईटी की पोजिशन बदलती रही.

भारत के आईआईटी और आईआईएम को 500 की सूची में भी कोई जगह नहीं मिली है. भारत की ओर से केवल इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस ही अपनी जगह बना पाया है और वह भी 300वें स्थान के बाद.

आईबी/एएम (एएफपी)

DW.COM