1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

बेरोजगारी से निकला फोन

पहले नोकिया के लिए काम कर चुके इंजीनियर स्मार्टफोन के बाजार में अब अपने हुनर के साथ नया कदम बढ़ा रहे हैं. अपने नए स्मार्टफोन में वे नोकिया के पिछले सॉफ्टवेयर को नए हैंडसेट के साथ पेश कर रहे हैं.

बाजार में करारा झटका झेल चुकी फिनलैंड की मोबाइल कंपनी नोकिया में काम कर चुके इनजीनियरों को सॉफ्टवेयर की अच्छी समझ है. नए जोला हैंडसेट को उन्होंने मीगो ऑपरेटिंग सॉफ्टवेयर की मदद से तैयार किया है. यह वह सॉफ्टवेयर है जिसे नोकिया ने 2011 तक इस्तेमाल किया. फिर बाजार में मिल रही टक्कर का सामना न कर पाने के कारण नोकिया माइक्रोसॉफट के विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करने लगा.

फोन की खूबियां

साढ़े चार इंच की मोटाई वाला यह नया फोन काफी कुछ नोकिया के लूमिया रेंज हैंडसेट्स से मिलता जुलता है. इसमें आठ मेगापिक्सेल का कैमरा लगाया गया है. 4जी की सुविधा के अलावा फोन में नोकिया की मैपिंग सर्विस भी है जिसमें 190 से ज्यादा देशों के नक्शे शामिल हैं.

नोकिया से हटकर जोला में एक और खूबी है. जोला पर गूगल एंड्रॉयड के 85,000 से ज्यादा ऐप काम कर सकते हैं जबकि नोकिया के फोन पर एंड्रॉयड ऐप काम नहीं करते थे. ऐंड्रॉयड ऐप्स दुनिया भर में खासे पसंद किए जा रहे हैं. इन्हीं की मदद से ही सैमसंग ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में कब्जा जमा रखा है. इस समय सैमसंग स्मार्टफोन मार्केट में बाकी कंपनियों से आगे है.

Deutschland Technologiekonferenz TechCrunch Disrupt in Berlin

जोला पर गूगल एंड्रॉयड के 85,000 से ज्यादा ऐप काम कर सकते हैं

लेकिन बाजार में मौजूद दूसरे प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले जोला की खासियत है इसका संवतंत्र ऑपरेटिंग सिस्टम.

जोला की कीमत 399 यूरो यानि लगभग 33000 रुपये है. ग्राहकों के बीच जोला के परीक्षण के दौरान दूसरे स्मार्टफोन्स के मुकाबले इसमें कोई बहुत अनोखी बात सामने नहीं आई. कैमरा बाजार की मांग के हिसाब से है, माइक्रो एसडी कार्ड, 16 जीबी मेमोरी, और नौ से 10 घंटे तक चलने वाली बैटरी. लेकिन इसमें दिया गया टच और स्वाइप करने का विकल्प बाकी फोन से थोड़ा अलग हैं. फोन की एक और खास बात है इसकी बैटरी जो खराब होने पर बदली जा सकती है, यह आजकल कई बड़ी कंपनियों के स्मार्टफोन के साथ मुमकिन नहीं है.

मुकाबला

जोला सॉफ्टवेयर के प्रमुख मार्क डिलन 2011 में शुरू हुई इस कंपनी के चार संस्थापकों में से एक हैं. उन्होंने फिनलैंड में नोकिया के लिए 11 साल काम किया है. डिलन ने कहा, "हम अंतरराष्ट्रीय स्तर के विकल्प दे रहे हैं. समझदार और ताकतवर ग्राहकों के लिए यह अच्छा है." डिलन ने ये बाते फिनलैंड के शहर हेल्सिंकी में नोकिया के पुराने दफ्तर की बिल्डिंग से कीं जहां पहले नोकिया के लिए हजारों इंजीनियर काम करते थे. उन्होंने कहा, "हमारे ऑपरेटिंग बिजनेस सिस्टम के लिए बाजार में अवसर अच्छे हैं क्योंकि एक विकल्प जो दुनिया भर के मोबाइल निर्माताओं के पास मौजूद है वह है एंड्रॉयड."

एप्पल के आईओएस या माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज जैसे अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम सिर्फ उन हैंडसेट पर इस्तेमाल किए जा सकते हैं जो उन कंपनियों ने खुद बनाए हैं. मार्केट रिसर्च कंसल्टेट कंपनी स्ट्रैटजी एनैलिटिक्स के नील मॉस्टन कहते हैं, "जोला आइफोन या सैमसंग की छुट्टी तो नहीं कर देगा लेकिन हां, स्मार्टफोन के मुश्किल बाजार में अपने लिए जगह जरूर बना सकता है."

Samsung übertrumpft Apple

स्मार्टफोन बाजार पर सैमसंग और एप्पल का कब्जा है

मॉस्टन के अनुसार एक समय ऐसा भी आएगा जब लोग एप्पल या एंड्रॉयड के सिवा कुछ ढूंढेंगे, उस समय बाजार पर कब्जा करने का जोला के पास अच्छा मौका हो सकता है. उन्होंने कहा, "मुझे लगता है अभी जोला के दो तीन संस्करण बाजार में आजाने के बाद ही कहा जा सकता है कि यह एप्पल या एंड्रॉयड को चुनौती दे सकेगा या नहीं."

हुनर जरूरी

नोकिया की हलात खराब होने के साथ ही बड़ी संख्या में लोगों ने नौकरियां गंवाईं. 2011 से अब तक कई नई कंपनियों की शुरुआत हुई जिनमें से ज्यादातर ने अपने पहले साल में ही दम तोड़ दिया. फिनलैंड के शहर ऊलू में असोसिएशन ऑफ इंजीनियर्स की अध्यक्ष टीना मारिया ने कहा, "नोकिया से कई सारे इंजीनियर निकल रहे हैं, जिनका पहले शानदार करियर रहा है. लेकिन उनमें से बहुत कम जानते हैं कि प्रोडक्ट को बेचा कैसे जाए, जो कि कोई नया बिजनेस शुरू करने के लिए जरूरी हुनर है."

फिनलैंड की टेलीकॉम कंपनी डीएनए ने बुधवार से जोला को बेचना शुरू कर दिया है. उन्होंने बताया कि लोगों के बीच इसकी काफी मांग दिखाई दी. उनके पास 136 देशों से जोला के लिए ऑर्डर आए हुए हैं जिनमें फिलैंड, जर्मनी और ब्रिटेन प्रमुख हैं. फिलहाल कंपनी में करीब 100 कर्मचारी फिनलैंड और हांगकांग में काम करते हैं लेकिन डिलन ने बताया कि चीन समेत कई देशों के निवेषक कंपनी में पैसा लगाने को तैयार हैं.

एसएफ/एमजी (एपी, एएफपी)

DW.COM

WWW-Links