1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

बेनजीर हत्याकांडः मुशर्रफ को क्लीन चिट

पाकिस्तान में बेनजीर भुट्टो हत्याकांड में पूर्व सैनिक शासक परवेज मुशर्रफ को क्लीन चिट दे दी गई है. अदालत में दायर चार्जशीट में तालिबान को ही पूर्व प्रधानमंत्री की हत्या के लिए जिम्मेदार बताया गया है.

default

मिस्टर 'क्लीन'

सोमवार को रावलपिंडी की आतंकवाद निरोधी अदालत में संघीय जांच एजेंसी की तरफ से दायर चार्जशीट में तहरीके-ए-तालिबान को बेनजीर भुट्टो की मौत के लिए जिम्मेदार बताया गया है. 27 दिसंबर 2007 को एक रैली के दौरान बेनजीर की हत्या की गई. अदालत इस मामले में गिरफ्तार किए गए कई संदिग्धों के मामले की सुनवाई कर रही है.

हत्या के लगभग 35 महीनों बाद दायर 48 पन्नों की चार्जशीट मुख्य तौर पर मुशर्रफ के शासनकाल में हुई जांच पर ही आधारित है. इसमें मुशर्रफ को क्लीन चिट दी गई है जिन्होंने 2008 में राष्ट्रपति पद से इस्तीफा दिया. उस वक्त संघीय और पंजाब सरकार के अन्य अधिकारियों को भी चार्जशीट में क्लीन चिट दी गई है.

रिपोर्ट के मुताबिक, "साझा जांच टीम को ऐसे कोई सबूत नहीं मिले हैं कि 27 दिसंबर 2007 को रावलपिंडी के लियाकत बाग में बेनजीर भुट्टो के कत्ल में प्रांतीय या संघीय सरकार का किसी तरह हाथ था. कोशिशों के बावजूद अब तक साझा जांच टीम जनरल (रिटायर्ड) परवेज मुशर्रफ से पूछताछ नहीं कर पाई है."

उधर गृह मंत्रालय के एक आला अधिकारी ने पाकिस्तानी अखबार डॉन को बताया कि साझा जांच टीम और संघीय जांच एजेंसी के विशेष जांच समूह के प्रमुख खालिद कुरैशी ने मुशर्रफ से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन गृह मंत्री रहमान मलिक ने उन्हें यह कहते हुए रोक दिया कि पूर्व राष्ट्रपति की पाकिस्तान पीपल्स पार्टी की सरकार के साथ कुछ डील हुई है.

चार्जशीट में संकेत मिलता है कि जांचकर्ताओं ने किसी बड़े सैन्य अधिकारी से कोई पूछताछ नहीं की. इन अधिकारियों में सेना प्रमुख जनरल अशफाक परवेज कियानी, आईएसआई के तत्कालीन प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल नदीम ताज और उस वक्त सैन्य खुफिया विभाग के प्रमुख जनरल नदीम एजाज मियां हो सकते थे. डॉन के सूत्रों के मुताबिक वरिष्ट सैन्य अधिकारियों ने साझा जांच टीम को इन जनरलों के बयान लेने की भी अनुमति नहीं दी.

चार्जशीट में बेनजीर भुट्टो की हत्या के लिए तहरीके तालिबान के पूर्व प्रमुख बैतुल्लाह महसूद को मुख्य तौर पर जिम्मेदार बताया गया गया जो संदिग्ध अमेरिकी ड्रोन हमलों में मारा जा चुका है. इसके अलावा इब्दुर रहमान, फैज मोहम्मद (नोशेरा के अकोरा खटक मदरसे का पूर्व छात्र), इकरामुल्लाह, एतजाज शाह, शेर जमान, हसनैन गुल, मोहम्मद रफकत, रशीद अहमद, नसरुल्लाह और नदीर को इस हत्याकांड में शामिल बताया गया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links