1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बेनजीर कांडः दो बड़े पुलिस अधिकारी गिरफ्तार

बुधवार को पाकिस्तान की एक अदालत में दो पुलिस अफसरों को गिरफ्तार कर लिया गया. इन दोनों अधिकारियों पर भुट्टो को पूरी सुरक्षा व्यवस्था मुहैया नहीं कराने के आरोप हैं. बेनजीर की हत्या दिसंबर, 2007 में रावलपिंडी में की गई थी.

default

इस मामले की सुनवाई कर रहे जज राना निसार अहमद ने रावलपिंडी के आदियाला जेल में शहर के पूर्व पुलिस प्रमुख सऊद अजीज और पूर्व एसपी खुर्रम शहजाद की जमानत की याचिकाएं खारिज कर दीं और उन्हें गिरफ्तार करने का हुक्म सुनाया.

Pakistan Ausschreitungen

इससे पहले फेडरल जांच एजेंसी ने अपनी चार्जशीट में इन दोनों पुलिस अधिकारियों के नाम का जिक्र किया और कहा कि जांच के लिए इनकी गिरफ्तारी जरूरी है. सरकारी वकीलों का कहना था कि ये दोनों पुलिस अधिकारी बेनजीर भुट्टो को पर्याप्त सुरक्षा नहीं दे पाए, जिसकी वजह से 27 दिसंबर 2007 को रावलपिंडी में एक रैली के दौरान उनकी हत्या कर दी गई.

उन्होंने भुट्टो का पोस्ट मॉर्टम न कराने के फैसले पर भी सवाल उठाया. बेनजीर के पति और मौजूदा राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने अजीज से अनुरोध किया था कि पोस्ट मॉर्टम न हो. हत्या के फौरन बाद तेज धार पानी की बौछारों से उस जगह को धो दिया गया. इस पर भी सवाल उठे हैं. अजीज ने ऑडियो रिकॉर्डिंग अदालत में पेश की, जिसमें जरदारी पोस्ट मॉर्टम न कराने की गुजारिश कर रहे हैं लेकिन जज ने इस सबूत को नहीं माना.

अभियोजन पक्ष ने कहा कि जांच में तेजी तभी आ सकती है, जब इन दोनों अधिकारियों को गिरफ्तार किया जाए. इस मामले की अगली सुनवाई सात जनवरी को होगी. आतंकवाद निरोधी अदालत बेनजीर भुट्टो की हत्याकांड में पांच संदिग्ध तालिबान के हाथ होने की जांच कर रहे हैं. इस मामले पर संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में कहा गया है कि भुट्टो को बचाया जा सकता था. इस रिपोर्ट में भी पाकिस्तान पुलिस पर सवाल उठाते हुए कहा गया कि किस तरह कोई पुलिसवाला अपराध की जगह को पानी से धो सकता है, जिससे सारे सबूत मिट जाएं.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links