1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

बेटों को जमीन देना गलतः येदियुरप्पा

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने माना कि बेटों को जमीन दे कर गलती की है. लेकिन वह इस बात को मानने को तैयार नहीं हुए कि उन्होंने कोई अनैतिक या गैरकानूनी काम किया है.

default

येदियुरप्पा ने हेडलाइन्स टुडे से बातचीत में कहा, "अगर जमीन है तो आप यह किसी को भी दे सकते हैं. मेरी गलती यह हुई कि मैंने जमीन को बेटे के नाम कर दिया. अगर न्यायालय कोई फैसला लेता है तो वह जमीन ले ले."

हालांकि येदियुरप्पा इस मुद्दे पर पार्टी प्रमुख नितिन गडकरी से अलग मत रखते हैं कि बेटों को जमीन दे कर उन्होंने कोई अनैतिक काम किया है. येदियुरप्पा ने जमीन आवंटन के स्कैंडल के बावजूद पार्टी को मजबूर किया वह उन्हें मुख्यमंत्री के पद पर बने रहने दें. नितिन गडकरी का कहना था कि जमीन आवंटन में बेटों को हिस्सा देना गैरकानूनी नहीं लेकिन अनैतिक है. इस पर येदियुरप्पा का कहना था, "मैं गडकरी से बात करूंगा. किसी ने उन्हें गलत रास्ता दिखाया है." येदियुरप्पा का मानना है कि राज्यपाल एचआर भारद्वाज को किसी खास वजह से कर्नाटक भेजा गया है. "उन्होंने राज भवन को राजनीतिक पार्टी में तब्दील कर दिया है. मैं गर्वनर साहब से पूछना चाहता हूं कि आपका इरादा क्या है. उन्हें शायद इसी लिए यहां भेजा गया है. हर दिन हम देख रहे हैं कि गवर्नर विपक्षी पार्टी लीडर की तरह काम कर रहे हैं." 

येदियुरप्पा ने कहा कि राज्यपाल ने जमीन आवंटन घोटाले के मामले में उन्हें न तो कोई नोटिस भेजा है न ही किसी बातचीत के लिए बुलाया है. "मैं अदालत में मुकदमे के लिए तैयार हूं."

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः एमजी

DW.COM