1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बुश गलतियां तो मानते हैं पर माफी नहीं मांगेंगे

जब से जॉर्ज बुश ने अमेरिकी राष्ट्रपति पद छोड़ा है, वह कम ही नजर आते हैं. पर मंगलवार को प्रकाशित अपने संस्मरण को लेकर वह खासे चर्चा में हैं. इसमें बुश ने आतंकवाद के खिलाफ युद्ध का बचाव किया है, पर गलतियां भी मानीं.

default

जनवरी में 2009 में पद से हटे

2 नवंबर को अमेरिकी मध्यावधि चु्नावों में रिपब्लिकन पार्टी की जीत के एक हफ्ते बाद बुश की किताब डिसीजन पॉइंट्स लोगों के हाथ में है. आठ साल तक अमेरिकी राष्ट्रपति रहे बुश की अलोकप्रियता के चलते ही राष्ट्रपति चुनाव गंवाने वाली रिपब्लिकन पार्टी ने वापसी की है और प्रतिनिधिसभा में सत्ताधारी डेमोक्रैट्स से बहुमत छीन लिया है.

पांच सौ पन्नों की इस किताब में बुश ने इराक में की गईं गलतियों को भी माना है क्योंकि व्यापक विनाश के जिन हथियारों को आधार बना कर वहां जंग शुरू की गई वे आखिर तक नहीं मिले. बुश लिखते हैं, "जब हमें इस तरह के हथियार नहीं मिले तो मुझसे ज्यादा स्तब्ध और नाराज कोई नहीं था. जब भी मैं इस बारे में सोचता तो परेशान हो जाता था. अब भी ऐसा ही है."

वैसे अपने किए पर बुश को कोई अफसोस नहीं है. वह कहते हैं, "माफी मांगने का मतलब असल में यह होगा कि फैसला गलत फैसला था. मैं नहीं समझता कि यह गलत फैसला था. बुश मानते हैं कि सद्दाम हुसैन का सत्ता में न रहना पहले के मुकाबले कहीं बेहतर है क्योंकि अब इराक के ढाई करोड़ लोग आजादी से रह सकते हैं.

Bildergalerie Irak Sturz Saddam-Statue

डिसीजन पॉइंट्स में उन 14 फैसलों का जिक्र है जो राष्ट्रपति रहते बुश ने लिए. उन्होंने विस्तार से बताया है कि वह इन फैसलों पर कैसे पहुंचे. यह किताब 11 सितंबर 2001 के आंतकवादी हमले से शुरू होती है जिसे न सिर्फ अमेरिका की सैन्य और विदेश नीति की दिशा बदली बल्कि पूरी दुनिया को प्रभावित किया. किताब का समापन राष्ट्रपति बुश के आखिरी दिनों में छाई आर्थिक मंदी पर होता है.

बुश मानते हैं कि समुद्री तूफान कैटरीना आने पर पैदा स्थिति से भी वह ठीक तरह नहीं निपट सके. कुछ लोग इसे उनके राष्ट्रपति काल की बड़ी चूकों में से एक मानते हैं. बुश न्यू ओरलींस के हवाई दौरे को भी भारी गलती मानते हैं और कहते हैं कि उन्हें लुइसियाना में ही रुक जाना चाहिए था और स्थानीय अधिकारियों और आपदा प्रभावित लोगों को वह बताते कि "मैं आपको सुन सकता हूं." उस दौरान ली गई तस्वीरों में बुश को वॉशिंगटन जाते राष्ट्रपति के एयरफोर्स वन विमान की खिड़कियों से सिर्फ झांकते हुए दिखाया गया, जिससे ऐसा लगता है कि राष्ट्रपति को तूफान प्रभावित लोगों की कोई चिंता नहीं है. बुश कहते हैं, "यह नजरिए की समस्या है. सच नहीं है. बेसहारा लोगों को देख कर मेरे हृदय को बहुत पीड़ा हुई. छतों पर खड़े लोग राहत का इंतजार कर रहे थे."

इस किताब में बुश अपनी पीने की लत के बारे में भी लिखते हैं जिस पर उन्होंने 40 साल की उम्र में काबू पाया. एनबीसी के साथ बातचीत में बुश ने बताया कि उनके राष्ट्रपति काल में सबसे खराब पल वह रहे जब रैप सुपरस्टार कैन वेस्ट ने बुश प्रशासन पर आरोप लगाया गया कि कैटरीना से प्रभावित लोगों को नस्ली आधार पर मदद दी जा रही है. बुश के मुताबिक, "उन्होंने मुझे नस्लवादी कहा."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM