1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बुलेट ट्रेन ला रहे शिंजो आबे का स्वागत गुजराती थाली से

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का गुजरात के अहमदाबाद शहर में स्वागत करेंगे. आबे दो दिन की यात्रा पर गुजरात पहुंच रहे हैं. अहमदाबाद में उनके स्वागत के लिए बड़ी तैयारियां की गयी हैं.

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे दो दिन के दौरे पर गुरजात पहुंच रहें हैं, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगवानी करेंगे. आबे अहमदाबाद के साबरमती आश्रम भी जायेंगे, जहां गांधी को श्रद्धांजलि देने के बाद वे ऐतिहासिक सिदी सईद मस्जिद जायेंगे. शहर शिंजो आबे की तस्वीरों और पोस्टरों से पटा पड़ा है. यहां उन्हें 28 राज्यों की सांस्कृतिक झलकियां अहमदाबाद में ही देखने को मिलेंगे.

जापान के प्रधानमंत्री के लिए हेरीटेज होटल हाउस ऑफ मंगलदास गिरधरदास में खास डिनर का आयोजन किया गया है, जिसमें गुजरात की पारंपरिक थाली के साथ नरेंद्र मोदी की पसंद की भी कुछ चीजें शामिल होंगे. जापानी प्रतिनिधियों के लिए इंडो-जापानी फ्यूजन डिश जैसे सूशी ढोकला और सूशी खिचड़ी भी पेश की जाएगी.

जापानी प्रधानमंत्री शिंज़ो अबे का दौरा सीधा गुजरात से शुरू हो रहा है जो काफी अहम है क्योंकि वहां 50 जापानी कंपनियां हैं. गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिंजो आबे अहमदाबाद से मुंबई के बीच बुलेट ट्रेन कॉरिडोर का शिलान्यास करेंगे. इस मौके पर एथलेटिक्स स्टेडियम में खास कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया है. इस दौरे में भारत और जापान के बीच कई महत्वपूर्ण समझौतों पर हस्ताक्षर होने हैं, दोनों देशों के बीच कुछ रक्षा समझौतों पर भी मुहर लग सकती है.

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के भारत पहुंचने से पहले प्रधानमंत्री ने ट्वीटर पर लिखा, "जापान से दोस्ती हमारे लिए अहम. इस दौरे से रिश्तों को मिलेगी नयी मजबूती." 

हालांकि, भारत में बुलेट ट्रेन चलाने को लेकर काफी सवाल भी उठाए जा रहे हैं. भारत का रेल नेटवर्क दुनिया के सबसे व्यस्त रेल नेटवर्कों में से एक हैं. भारत में हर रोज लगभग 2 करोड़ से भी ज्यादा लोग ट्रेन से सफर करते हैं लेकिन इसी के साथ भारतीय रेलवे दुनिया के सबसे खतरनाक रेलवे नेटवर्क में भी शामिल है. सरकार द्वारा जारी किये गये आंकड़ों के मुताबिक हर साल रेल दुर्घटनाओं में लगभग 15000 लोगों की मौत होती है. ज्यादातर हादसे खराब सुरक्षा मानकों की वजह से होते हैं.

मोदी ने देश के खराब होते रेलवे के बुनियादी ढांचे का आधुनिकीकरण करने के लिए अरबों डॉलर का निवेश करने का वादा दिया है. 2014 के आम चुनावों की भारी जीत से पहले नरेंद्र मोदी ने अपनी चुनावी रैलियों में जो वादे किये थे उनमें बुलेट ट्रेन एक बड़ा वादा था.

एसएस/एनआर (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री