बुर्के पर बेन लगाने की शिव सेना की मांग | दुनिया | DW | 19.10.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बुर्के पर बेन लगाने की शिव सेना की मांग

भारत में कट्टर हिंदूपंथ की राजनीति करने वाली शिव सेना ने सरकार से मुस्लिम महिलाओं के बु्र्का पहनने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है. दलील दी गई है कि बुर्के की आड़ में बच्चों की चोरी रोकने के लिए ऐसा किया जाना चाहिए.

default

शिव सेना प्रमुख बाल ठाकरे

शिव सेना के मुखपत्र सामना में सरकार से बुर्का पहनने पर तुरंत रोक लगाने की मांग की गई है. सामना के संपादकीय में इस मांग के साथ एक नई बहस शुरू करने की कोशिश की गई है.

इसमें कहा गया है कि अगर बुर्के का इस्तेमाल बच्चों को चुराने में किया जा रहा है तो फिर इसके पहनने पर कानून लागू कर प्रतिबंधित कर देना चाहिए. यह मांग 15 अक्टूबर को मुंबई में एक बच्चे की चोरी के मद्देनजर की गई है.

शांताक्रूज इलाके में एक सरकारी अस्पताल से कथित तौर पर बुर्का पहने एक महिला ने दो महीने के बच्चे को चुरा लिया था. इस घटना के बाद शिव सेना ने फ्रांस का हवाला देते हुए बुर्के पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर डाली.

इसमें कहा गया है कि फ्रांस के राष्ट्रपति ने बुर्के पर प्रतिबंध लगाकर क्रांतिकारी कदम उठाया है. इसी तर्ज पर भारत में भी सरकार को बुर्के पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए. संपादकीय में कहा गया है कि इस तरह का फैसला करने में इस्लाम आड़े नहीं आता. क्योंकि मुस्लिम देश तुर्की में भी कमाल पाशा ने बुर्के पर बेन लगा दिया था. जब वहां इस्लाम आड़े नहीं आया तो भारत में ही क्यों इस तरह की दिक्कत आएगी.

रिपोर्टः पीटीआई/निर्मल

संपादनः उज्ज्वल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links