1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

बुधवार को होगा पवित्र कुंभ स्नान

हरिद्वार में पवित्र गंगा में कुंभ स्नान के लिए लाखों हिंदू श्रद्धालु जमा होना शुरू हो गए हैं. हर तीन साल पर बारी बारी से चार भारतीय शहरों में होने वाला कुंभ मेला विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक महोत्सव है.

default

हर की पौरी घाट पर कुंभ स्नान

हिंदू श्रद्धालुओं का मानना है कि इस अवसर पर गंगास्नान से उन्हें पापों से मुक्ति मिलती है और मोक्ष मिलता है. मेला के वरिष्ठ प्रेस अधिकारी अशोक शर्मा के अनुसार 14 जनवरी से चल रहे इस मेले में अब तक 4 करोड़ लोगों ने हरिद्वार और ऋषिकेश में गंगास्नान किया है.

बुधवार को कुंभस्नान का मुख्य दिन है और अशोक कुमार के अनुसार 67 लाख लोग इसके लिए हरिद्वार में जमा हो गए हैं. बुधवार को गंगा के 15 किलोमीटर लंबे हिस्से में 1 करोड़ लोगों के नहाने की उम्मीद है.

इन आंकड़ों की स्वतंत्र रूप से पुष्टि संभव नहीं है और कुछ लोगों का कहना है कि शहर इन आंकड़ों को बढ़ाचढ़ा कर बता रहा है. लेकिन पिछले सालों में हुए कुंभ मेलों में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या भी इसी तरह रही है.

मंगलवार को नहाने वालों में देश के विभिन्न हिस्सों से आए अलग अलग उम्र के लोग शामिल थे. कोलकाता के 62 वर्षीय प्रदीप घोष ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि गंगा आध्यात्मिक ताक़त देती है जिसे वे अपने अंदर महसूस करते हैं.

रंगारंग कुंभ मेले का मुख्य आकर्षण नागा साधु हैं जो पहाड़ों और जंगलों की अपनी ज़िंदगी छोड़ ज्योतिषियों द्वारा चुने गए चार दिन गंगास्नान का नेतृत्व करने के लिए हरिद्वार आते हैं. लम्बे जटाजूट वाले सारे शरीर पर भस्म लगाए निर्वस्त्र ये साधु बुधवार को हर की पौरी घाट पर गंगा में उतरकर कुंभस्नान की शुरुआत करेंगे.

रिपोर्ट: एएफ़पी/महेश झा

संपादन: उज्ज्वल भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री