1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

बीसीसीआई के फैसले से हैरान प्रीति जिंटा

किंग्स इलेवन पंजाब के अधिकारियों ने बीसीसीआई के फैसले को 'अनुचित' करार देते हुए इसकी कड़ी निंदा की है. टीम के मालिकों में से एक प्रीति जिंटा ने फैसले पर हैरानी जताई है. बीसीसीआई ने किंग्स इलेवन का करार रद्द कर दिया है.

default

अब तक यकीन नहीं

आईपीएल की टीम किंग्स इलेवन की तरफ से जारी बयान में साफ कहा गया है, "किंग्स इलेवन यह मानती है कि बीसीसीआई का फैसला अनुचित है और इंडियन प्रीमियर लीग की भावना से मेल नहीं खाता."

उधर टीम की सहमालकिन प्रीति जिंटा को बोर्ड के फैसले से झटका लगा है. उन्होंने कहा, "मैं अभी तक इस खबर पर यकीन नहीं कर पा रही हूं. आईपीएल के लिए कड़ी मेहनत से टीम बनाने के बाद मैंने इस तरह के फैसले की उम्मीद नहीं की थी. मुझे सदमा लगा है."

Bollywood Schauspielerin Shilpa Shetty

शिल्पा की टीम भी बाहर हुई

प्रीति ने उनकी टीम का समर्थन करने के लिए लोगों को धन्यवाद दिया और कहा, "मैं जानती हूं कि भगवान सब कुछ देख रहे हैं और वह जरूर मेरे लिए कुछ करेंगे."

बीसीसीआई ने टीम पर करार का उल्लंघन करने के आरोप लगाया है. बीसीसीआई ने किंग्स इलेवन पंजाब और राजस्थान रॉयल्स का करार रद्द कर दिया है जबकि नई टीम कोच्चि को चेतावनी देकर छोड़ दिया. कोच्चि को अपनी आंतरिक कलह का निपटारा 10 दिन के भीतर करने की हिदायत दी गई है.

उधर किंग्स इलेवन ने अपने बयान में यह भी उम्मीद जताई है कि बीसीसीआई सरकारात्मक रुख के साथ उनसे बातचीत कर मामले को सुलझाने की कोशिश करेगा. किंग्स इलेवन ने बीसीसीआई के कदम पर दुख जताया है. किंग्स इलेवन का कहना है, "आईपीएल में शुरुआत से ही किंग्स इलेवन पंजाब बोर्ड के लिए भरोसेमंद टीम रही है, वह भी ऐसे वक्त में जब यह भी तय नहीं था कि लीग मैच होंगे या नहीं."

टीम मैनेजमेंट का कहना है कि उसे बीसीसीआई की तरफ से औपचारिक सूचना मिल गई है और कानूनी जानकार उस पर चर्चा कर रहे हैं. टीम मैनेजमेंट ने यह भी उम्मीद जताई है कि अगर उनसे कोई गलती हुई है या फिर बीसीसीआई किसी वजह से गलतफहमी का शिकार हुई है तो उसे दूर कर लिया जाएगा.

Die Cheerleader des indischen Cricketteam Royal Challengers

आईपीएल ने बदला क्रिकेट का चेहरा

पिछले कुछ महीनों से किंग्स इलेवन पंजाब का नाम विवादों में घिरता रहा है. इसी साल अप्रैल में केंद्र और राज्य के एक्साइज डिपार्टमेंट ने टीम को आईपीएल के 2008 सत्र के लिए 5 करोड़ रुपये का टैक्स जमा करने का नोटिस भेजा. इसके अलावा इस साल टिकटों की बिक्री से हुई कमाई की जानकारी भी मांगी गई.

जुलाई में स्थानीय कोर्ट ने प्रीति जिंटा और दो दूसरे मालिकों के खिलाफ जमानती वारंट जारी किए. इन लोगों पर वार्षिक खातों की बैलेंस शीट जमा नहीं करने का आरोप था. बाद में पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने इस वारंट की तामील पर रोक लगा दी.

इतना ही नहीं, टीम में पंजाब के युवराज सिंह को हटाकर श्रीलंका के कुमार संगकारा को टीम का कप्तान बनाया गया. टीम आईपीएल के पहले सत्र में सेमीफाइनल तक जरूर पहुंची लेकिन बाद के सत्रों में उसका खेल लगातार खराब होता गया और वह नीचे गिरती गई.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links