1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बीयर फेस्टिवल में सिगरेट पर पाबंदी

जर्मनी के सालाना बीयर फेस्टिवल, अक्टूबर फेस्ट में आने वालों को इस बार सिगरेट पीने की आज़ादी नहीं मिलेगी. बावेरिया के लोगों ने रेस्टोरेंट , बार, कैफे औऱ बीयर टेंट में सिगरेट पीने की पाबंदी पर अपनी रजामंदी जताई है.

default

सिगरेट पीने पर पाबंदी

बावेरिया में इस बार का बीयर फेस्टिवल बिना सिगरेट के ही होगा. बावेरिया के चुनाव अधिकारियों के मुताबिक सिगरेट पर पाबंदी के लिए वोट देने आए कुल 39 फीसदी लोगों में से 61 फीसदी ने पाबंदी का समर्थन किया है. ये पाबंदी पहले से मौजूद कानून को बदल देगी. एक अगस्त से पाबंदी लागू हो जाएगी. अक्टूबर फेस्ट में भी इसमें बहुत थोड़ी छूट तो मिलेगी लेकिन कई शर्तो के साथ.

Nichtraucherschutz Volksentscheid

बीयर फेस्टिवल में भी नहीं मिलेगी सिगरेट

बावेरिया जर्मनी में सिगरेट पर पाबंदी लगाने वाले राज्यों में सबसे सख्त कानून वाला राज्य माना जाता था. यहां 2007 में स्वास्थ्य संबंधी बातों का हवाला देते हुए सार्वजनिक जगहों पर सिगरेट पीने पर पाबंदी लगा दी गई थी. लेकिन कड़ी आलोचना के बाद उसे ढीला करना पड़ा. तब राज्य की सत्ताधारी पार्टी सीडीयू ने दलील दी थी कि बीयर पीना और धुम्रपान करना बावेरिया की परंपरा है.

इसके बाद 75 स्क्वेयर मीटर और उससे बड़े एक कमरे वाले बार बार में सिगरेट पीने की छूट दे दी गई. इसके अलावा बीयर टेंट और म्युनिख के सालाना जलसे अक्टूबरफेस्ट में भी सिगरेट पर पाबंदी खत्म कर दी गई. लेकिन इस बार ऐसा कुछ भी नहीं होगा. अब बीयर की घूंटें भरने वालों को होठों पर सिगरेट करने के लिए कष्ट उठाना पड़ेगा. होटलो और रेस्तरां मालिकों से कहा गया है कि धुम्रपान करने वालों के लिए विशेष हॉल बनाए जाएं. वामपंथी पार्टी ग्रीन्स और सोशल डेमोक्रैट्स ने मिलकर सिगरेट पर रोक के लिए अभियान चलाया. उन्हें उम्मीद थी कि सिगरेट पर पूरी तरह से पाबंदी लग जाएगी.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः ओ सिंह

संबंधित सामग्री