1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

बीमार होती हिप हॉप संस्कृति

एक संस्कृति जिसके स्टार 1990 के दशक में हिंसा का शिकार होते थे, इन दिनों ड्रग्स और तबीयत खराब होने का शिकार हो रहे हैं. ये हैं हिप हॉप की संस्कृति पोसने वाले कलाकार जो अब नशे की भेंट चढ़ रहे हैं.

2011 से अभी तक चाहे वो हिप हॉप के पायनियर हेवी डी हों या रैप कोरस विशेषज्ञ नेट डॉग या फिर न्यू यॉर्क के रैपर टिम डॉग. सब की सिर्फ 40 की उम्र के आस पास किसी न किसी बीमारी के कारण मौत हो गई. क्रिस क्रॉस रैपर क्रिस केली को हाल ही में अटलांटा में मृत पाया गया. 34 साल के केली की मौत का कारण ड्रग्स का ओवरडोज बताया जा रहा है.

संगीत की इस शैली के पुराने कलाकारों को इस ट्रेंड पर चिंता है. उन्हें यह बात भी सताती है कि संस्कृति के फोकस में युवा हैं. उनका जोर पार्टी करने पर है और यह भी इंसान एक ही बार जीता है. जैसा कि 2011 में ड्रेक का हिट सॉन्ग "द मोटो" कहता है.

रैप संगीत के अगुआ मेले मेल कहते हैं, "हिप हॉप एक लाइफस्टाइल है, अमेरिकी संस्कृति का एक हिस्सा. आपको सोचना पड़ेगा कि कोई बूढ़ा भी होगा. किसी मौके पर आपको ये समझ में आना चाहिए कि हिप हॉप को सीखना पड़ेगा कि वयस्क कैसे हों. यह बहुत ही बच्चा है और अब ऐसी स्थिति में बहुत लंबा समय बीत चुका है."

51 साल के रैपर ने 1982 में ही उन शहरी युवाओं को "द मेसेज" भेजा था, जो बहुत जल्दबाजी में जीते और युवा ही मर जाते. क्योंकि वे प्रोग्राम के दौरान सिगरेट और चरस पीने वालों से घिरे रहते थे, उन्हें अब क्रॉनिक ब्रोंकाइटिस है. वह कहते हैं कि ड्रग्स का बेइंतहा इस्तेमाल हिप हॉप में कोई नया नहीं. मेले मेल के मुताबिक उनके फ्यूरियस फाइव के काउ बॉय की मौत 1989 में ड्रग्स के ओवरडोज के कारण ही हुई. "यह ठीक नहीं कि आप खुद को मौत की ओर ले जाकर अलग कर लें. यह आत्महत्या करने जैसा है. आपको चुनना है कि आपको क्या खुश रखता है और क्या ऐसा है जिससे आपको लगता है कि आप अच्छा महसूस कर रहे हो."

दूसरे बड़े रैपर जिनकी 30 की उम्र में मौत हुई उनमें पिंप सी और वू तांग क्लैन के ओल डर्टी बास्टर्ड शामिल हैं. इनकी मौत का कारण भी नशीली दवाओं का ओवरडोज था.

सिर्फ लाइफस्टाइल ही इस तरह की गंभीर बीमारियों का कारण नहीं है. एमसी ब्रीड की किडनी फेल होने से 2008 में मौत हो गई, जबकि 32 साल के जे डिला की 2006 में लुपुस बीमारी के कारण मौत हो गई. सिर्फ यही नहीं रैपर गुरू की 2010 में कैंसर से मौत हुई और बीस्टी बॉयज के एडम याउख की 47 की उम्र में.

इस शैली के टॉप कलाकार 30 साल के लिल वायन ने एक रेडियो इंटरव्यू में स्वीकार किया कि उन्हें मिर्गी के दौरे आते हैं. 30 और 40 के दशक में कुछ कलाकारों ने कोशिश की कि अपने कार्यक्रमों के साथ स्वास्थ्य पर भी ध्यान दिया जाए. मशहूर रैपर 50 सेंट कहते हैं कि वह अब अल्कोहल बिलकुल नहीं पीते. "मैं अच्छा और लंबा स्वस्थ जीवन बिताना चाहता हूं. आप मुझे कभी पीता हुआ नहीं पाएंगे. अगर आप मुझे किसी बोतल के साथ देखेंगे तो उसमें जिंजर एल होगा."

वहीं स्नूप डॉग चरस तो पीते हैं लेकिन उन्होंने शराब पीनी बिलकुल छोड़ दी है. छह साल पहले उन्हें संदेह हुआ था कि किसी महिला ने उनके ग्लास में बेहोश करने वाला रोहिप्नोल डाल दिया था. इसे डेट रेप ड्रग्स के नाम से जाना जाता है. "मैं फैशन स्टेटमेंट के तौर पर शराब पीता था. अगर आप किसी क्लब में हैं और आपको बोतल ला कर दी जा रही है तो आप पीते हैं, क्योंकि आप पीते हैं. मैं अब ऐसा नहीं चाहता. मैं पानी या क्रैनबरी जूस पीता हूं. मैं चीप नहीं हूं और अपने शरीर के साथ मैं ऐसा नहीं कर सकता. मैं जीना चाहता हूं."

स्नूप कहते हैं कि स्वास्थ्य पर उनका ध्यान तब गया जब उन्होंने हर उम्र में फिट रहने के बारे में सोचा. क्योंकि ऐसा नहीं करने पर, "जब हम परफॉर्म करते हैं हममें ऊर्जा नहीं होती. इसलिए अब हम उठते हैं, एक्सरसाइज करते हैं, दंड-बैठक करते हैं, या जो भी हमें फिट और स्वस्थ रखे वो सब करने की कोशिश करते हैं. बूढ़े लोग खुद को कभी बूढ़ा महसूस नहीं होने देते. तो यह है मेरा इरादा युवाओं के साथ टक्कर लेने का कि मैं उनके साथ डांस कर सकूं, बोल सकूं. क्योंकि जब वह आपको आपके गाने के जरिए अपने जीवन में शामिल करते हैं, आप नौजवान हो जाते हैं."

एएम/एमजे (एपी)

DW.COM

WWW-Links