1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

बीटल्स रॉक बैंड के संगीत पर पढ़ाई

ब्रिटेन के बीटल्स बैंड को पॉपुलर म्यूजिक का सिरमौर माना जाता है और आज भी प्रशंसक उनके संगीत को बेहद पसंद करते हैं. अब बीटल्स के संगीत पर पाठ्यक्रम भी शुरू किया गया है. कनाडा की एक महिला डिग्री पाने वाली पहली छात्र.

default

लिवरपूल होप यूनिवर्सिटी में मेरी लू जाहलन कैनेडी ने द बीटल्स के संगीत पर कोर्स में पढ़ाई पूरी की है. लिवरपूल होप यूनिवर्सिटी में एक अनूठा एम.ए. पाठ्यक्रम शुरू किया गया है जिसे एम.ए. इन बीटल्स, पापुलर म्यूजिक एंड सोसाइटी नाम दिया गया है. जब पहली बार कोर्स की पढ़ाई शुरू हुई तो दुनिया में इस तरह के विषय का यह पहला पाठ्यक्रम बना. अब जाहलन कैनेडी इस विषय में यूनिवर्सिटी डिग्री पाने वाली पहली छात्र बन गई हैं.

इस कोर्स में बीटल्स के संगीत के साउंड, कम्पोजिशन के साथ साथ इस पहलू पर भी पढ़ाई हो रही है कि लिवरपूल शहर ने बीटल्स को अच्छे संगीत के लिए कैसे प्रेरित किया. एम.ए.कोर्स में संगीत की खासियत और पहचान, संस्कृति को गढ़ने में उसके योगदान का भी जिक्र है.

Flash-Galerie The Beatles Wie alles begann

लिवरपूल होप यूनिवर्सिटी में बीटल्स एम.ए. कोर्स के संस्थापक और लीडर माइक ब्रोकन ने कहा कि पोस्टग्रेजुएट डिग्री पाने के बाद जाहलन कैनेडी बेहद चुनिंदा संगीत विशेषज्ञों में शामिल हो जाएंगी. "जाहलन कैनेडी पापुलर म्यूजिक की पढ़ाई करने वाले एक ऐसे समूह का हिस्सा बनने जा रही हैं जो संगीत के क्षेत्र में अंदरूनी गहराइयों को जानता है और इसके प्रति नए सिरे से विचारों को गढ़ सकता है."

1960 के दशक में बीटल्स एक इंग्लिश रॉक बैंड था जिसने पूरी दुनिया को अपने संगीत के जादू से सराबोर कर दिया. ब्रिटेन के लिवरपूल शहर से शुरू हुए बीटल्स बैंड को पॉपुलर म्यूजिक में व्यवसायिक दृष्टि से सबसे सफल माना जाता है. इस ग्रुप में जॉन लेनन, पॉल मैक्कार्टनी, जॉर्ज हैरीसन, रिंगो स्टार शामिल थे.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links