1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

बीजेपी नेता रिहा, एकता यात्रा खत्म

बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज, अरुण जेटली और अनंत कुमार को हिरासत से रिहा कर दिया गया है. इसके बाद उन्होंने श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा न फहराने देने के लिए जम्मू कश्मीर सरकार को आड़े हाथ लिया.

default

अरुण जेटली- फाइल फोटो

जम्मू कश्मीर पुलिस ने 200 बीजेपी कार्यकर्ताओं समेत जिन वरिष्ठ नेताओं को रिहा किया है उनमें भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रमुख अनुराग ठाकुर और बीजेपी नेता शांता कुमार भी शामिल हैं. ठाकुर को अन्य कार्यकर्ताओं के साथ रिहा किया गया और पंजाब के माधोपुर में छोड़ा गया. झंडा फहराए जाने की रस्म पूरी होने के बाद स्वराज और जेटली को राज्य के पुलिस उपमहानिदेशक गरीब दास ने कठुआ के हॉलमार्क होटल से रिहा किया. उन्हें इसी होटल में नजरबंद रखा गया था.

अपनी रिहाई के बाद बीजेपी नेताओं ने श्रीनगर के लाल चौक पर उन्हें झंडा न फहराने देने के लिए राज्य सरकार को निशाना बनाया. विपक्ष की नेता स्वराज ने कहा, "उमर की पेशकश सिर्फ एक जुबानी वादा था. एक तरफ उन्होंने हमें श्रीनगर में तिरंगा फहराने से रोका और अलगाववादियों को नैतिक समर्थन दिया. दूसरी तरफ, उन्होंने झंडा फहराने के समारोह में हमें आमंत्रित किया. अब कार्यक्रम खत्म हो गया है तो उन्होंने हमें रिहा कर दिया. हम जम्मू में इसका जवाब देंगे." उन्होंने बताया कि बीजेपी जम्मू में प्रेस कांफ्रेंस करेगी.

सुषमा स्वराज ने बताया कि बीजेपी की एकता यात्रा जम्मू में झंडा फहराए जाने के साथ पूरी हो गई है. रिहाई के बाद भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने कठुआ के पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज में झंडा फहराया. उन्होंने राज्य सरकार के अधिकारियों पर अपने कार्यकर्ताओं के साथ अच्छा व्यवहार न करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं को ठीक से बिस्तर नहीं दिए गए जिसके कारण वे रात भर ठिठुरते रहे.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ए कुमार

संपादन: उज्जवल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links