1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बीजेपी दफ्तर में शौचालय बनवाना चाहते हैं केजरीवाल

दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली प्रदेश बीजेपी दफ्तर में शौचालय बनाने के लिए विधायक निधि देने का ऑफर दिया है.

पिछले दिनों भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांधी जयंती के मौके पर स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी.

भले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी पार्टी भारत में स्वच्छता अभियान की शुरुआत का श्रेय ले रही हो लेकिन आम आदमी पार्टी दोनों को ही श्रेय लेने देने का कोई मौका नहीं देना चाहती. अंग्रेजी दैनिक द इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, केजरीवाल ने नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) के चेयरमैन को चिट्ठी लिखकर बीजेपी दफ्तर में महिला कार्यकर्ताओं के लिए शौचालय बनाने की इच्छा जाहिर की है. दिल्ली बीजेपी यूनिट का दफ्तर 14 पंडित मार्ग केजरीवाल के विधानसभा क्षेत्र में आता है. अखबार ने चिट्ठी का हवाला देकर लिखा है, “हालांकि यह बीजेपी का दफ्तर है, यह मेरे विधानसभा क्षेत्र में आता है. मैं राजनीति से ऊपर उठना चाहता हूं और मैं अपने विधायक निधि कोष से बायो टॉयलेट के निर्माण के लिए ऑफर देना चाहता हूं, दफ्तर परिसर में महिलाओं के लिए चार यूनिट शौचालय."

बीजेपी दफ्तर में शौचालय काफी गंदे रहते हैं और जो लोग उसे इस्तेमाल करना चाहते हैं उनके लिए वहां पर्याप्त जगहें नहीं है.

नतीजतन, महिला कार्यकर्ताओं को आस पास टॉयलेट तलाशने पड़ते हैं या फिर उनके पास इंतजार करने के अलावा कोई चारा नहीं होता. इस स्थिति की बार बार आलोचना हो चुकी है. खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में सफाई और स्वच्छता के अभियान को छेड़ा है. वास्तव में प्रधानमंत्री के कहने पर देश में स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत गांधी जयंती के मौके पर हुई. स्वच्छ भारत देश भर में चलाए जा रहे सफाई अभियान का नाम है. दिल्ली बीजेपी के मीडिया प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा है, "केजरीवाल बीजेपी दफ्तर की चिंता न करें. बुधवार से दफ्तर में टॉयलेट बनाने का काम शुरू हो जाएगा. केजरीवाल पहले अपनी पार्टी के लिए स्थायी दफ्तर बनाएं."

रिपोर्ट: आमिर अंसारी

संपादन: आभा मोंढे


DW.COM

संबंधित सामग्री