1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बीजेपी को राजनाथ से उम्मीद

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहते हुए राजनाथ सिंह ने फैशन प्रतियोगिताओं पर कड़ा रवैया रखा था. वो इसे विदेशी कंपनियों की साजिश बताते थे. शुद्ध शाकाहारी राजनाथ को गुड़ बहुत पसंद है. जानिए बीजेपी के नए अध्यक्ष के बारे में.

उनसे मिलने आने वालों में मुसलमान भी ज्यादा हुआ करते थे और राजनाथ उनसे गले मिलते हुए फोटो खिंचवाना कभी नहीं भूले. बचपन में उनको पढ़ाने वाले शिक्षक हाजी नबी रसूल जब एक दिन अचानक मुख्यमंत्री आवास आए तो राजनाथ ने उन्हें पहचानने में ज़रा भी देर नहीं की और गले लगा कर फोटो खिंचवाया. उनकी ऐसी ही गतिविधियों से बीजेपी जैसी कट्टर हिन्दू पार्टी के नेता होने के बावजूद उनकी छवि उदार बनी रही.

राजनाथ सिंह एक दिन अचानक राज्य कर्मचारियों की कॉलोनी में उनकी आवासीय तकलीफें जानने जा पहुंचे. बच्चों के कार्यक्रम में कहा, "आजकल राजनीति के मैदान में अम्पायरिंग कर रहा हूं." उन्ही दिनों समाजवादी पार्टी के प्रमुख मुलायम सिंह की सालगिरह पर उनके आवास जाकर लड्डू खिलाया लेकिन अपने साथ सरकारी फोटोग्राफर ले जाना नहीं भूले.

दिसंबर 2001 में उन्होंने यूपी में सौंदर्य प्रतियोगिताओ पर पाबंदी लगा दी. ये उन्ही दिनों की बात है जब बरेली की प्रियंका चोपड़ा मिस वर्ल्ड का खिताब जीती थीं. राजनाथ सिंह ने बतौर मुख्यमंत्री उन्हें बधाई भी नहीं दी. युवाओं की ओर से उनकी बहुत आलोचना हुई लेकिन उन्होंने इसका स्पष्टीकरण दिया, "हमारे राज्य में फैशन शो पर कोई प्रतिबंध नहीं, लेकिन ब्यूटी कंटेस्ट जैसे आयोजन नहीं होने दिए जाएंगे." इस फैसले की कुछ वर्गों ने प्रशंसा भी की. इस मुद्दे पर एक इंटरव्यू में राजनाथ सिंह ने इसके कारण गिनाते हुए कहा, "कई कारण हैं. पहला, भारतीय युवाओं के पाश्चात्यकरण पर रोक होनी चाहिए. भारतीय लड़कियों को मिस वर्ल्ड और मिस यूनिवर्स बनाना भारत सरीखे देश में सौंदर्य प्रसाधनों की बिक्री बढ़ाने की गहरी साजिश है."

Indien Hungerstreik Baba Ramdev FLASH-GALERIE

इसी इंटरव्यू में उन्होंने फैशन उद्योग पर जवाब दिया, "भारतीय लड़कियों को मदर टेरेसा, चांद बीबी, महारानी लक्ष्मीबाई और सीता का अनुकरण करना चाहिए. भारत में कोई भी धर्म अपनी बेटियों को स्पर्धाएं जीतने के लिए देह प्रदर्शन की अनुमति नहीं देता. और इससे निचले वर्गों तथा गरीब परिवारों की लड़कियों में भ्रम की स्थिति पैदा होती है."

पत्नी सावित्री सिंह के मुताबिक राजनाथ सिंह अंतर्मुखी और गंभीर हैं और उनकी पसंदीदा फिल्म जॉनी मेरा नाम है जो उन्होंने बीएससी की पढ़ाई करते वक्त देखी थी. वे काफी अध्यनशील भी हैं. उनकी बिटिया डॉली शादी के बाद अमेरिका में बस गई हैं और दो बेटे है जिनमे से एक पंकज सिंह राजनीती में आ चुके हैं. उन्हें प्रदेश बीजेपी में अचानक शामिल कर लेने पर विवाद भी हो चुका है.

मुख्यमंत्री बनने से पहले वे यूपी के शिक्षा मंत्री भी रह चुके हैं और उन्होंने नकल विरोधी कानून बनाकर सैकड़ों छात्र-छात्राओं को परीक्षाओं में नक़ल करते हुए पकड़े जाने पर जेल पहुंचा दिया था. उनके इस फैसले की भी कड़ी आलोचना हुई थी. उनके हटने के बाद इस कानून को खत्म कर दिया गया. चंदौली के रहने वाले राजनाथ सिंह राजनीति में आने से पहले फिजिक्स के लेक्चरर रह चुके हैं.

रिपोर्टः एस वहीद, लखनऊ

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links