1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बीजेपी के खिलाफ आप का विरोध प्रदर्शन

आप पार्टी आज देश भर में बीजेपी के दागी मंत्रियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है. केंद्र सरकार के मंत्रियों के इस्तीफे की मांग करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी इस विरोध प्रदर्शन के केंद्र में हैं. आम आदमी पार्टी की मांग है कि ये सभी नेता अपने पद से इस्तीफा दें. इनके अलावा पार्टी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस को भी पद से हटाने की मांग कर रही है.

हाथ में बैनर लिए और बीजेपी के खिलाफ नारे लगाते हुए आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता जंतर मंतर से संसद तक पहुंचे. महिला मोर्चा, अल्पसंख्यक मोर्चा और यूथ विंग के कार्यकर्ताओं ने भी प्रदर्शन में हिस्सा लिया. इस दौरान कुछ कार्यकर्ताओं ने पुलिस के साथ हाथापाई भी की.कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने स्मृति ईरानी के घर के बाहर प्रदर्शन किया.

सरकार पर दबाव बनाने के लिए आम आदमी पार्टी ने 25 जून को चेतावनी दी थी कि अगर बीजेपी इन मंत्रियों को पद से नहीं हटाती है या इस पर किसी तरह की सफाई नहीं देती है, तो पूरे देश में प्रदर्शन किए जाएंगे. रविवार को प्रधानमंत्री मोदी के रेडियो कार्यक्रम मन की बात में इस सिलसिले पर टिप्पणी की उम्मीद की जा रही थी. लेकिन मोदी ने इस मुद्दे को नजरअंदाज कर स्कूलों में शौचालय और बेटी बचाओ आंदोलन पर ध्यान देने का फैसला किया. सोशल मीडिया पर भी इस बात को लेकर काफी चर्चा चल रही है.

आम आदमी पार्टी का कहना है कि बीजेपी ने दागी मंत्रियों के मामले में लगातार चुप्पी साधी हुई है. एक प्रदर्शनकारी ने सवाल उठाया, "ऐसे में सरकार भ्रष्टाचार मुक्त देश का अपना वायदा कैसे पूरा कर सकती है?" ट्विटर पर भी लोग इस सवाल को काफी उछाल रहे हैं और बीजेपी की तुलना पूर्व कांग्रेस सरकार से कर रहे हैं.

बीजेपी के समर्थकों ने भी इस बीच आप के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है और सवाल उठा रहे हैं कि जिनकी कतारों में सोमनाथ, तोमर, राखी बिरला और कुमार विश्वास जैसे नेता हैं वे बीजेपी के दागी नेताओं के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं.