1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

बीएसएफ हिंसा में यकीन रखने वाली फोर्स: कनाडा

कनाडा के दूतावास ने भारत की बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स, बीएसएफ को हिंसा में यकीन रखने वाली कुख्यात फोर्स बताया है. कनाडा का कहना है कि बीएसएफ योजनाबद्ध ढंग से टॉर्चर करती है. भारतीय विदेश मंत्रालय तक पहुंचा मामला.

default

कनाडा के दूतावास ने बीएसएफ से रिटायर हो चुके फतेह सिंह पंढेर को वीजा देने से इनकार कर दिया. दूतावास ने उनकी अर्जी में लिखा कि पंढेर वीजा पाने लायक नहीं हैं क्योंकि वह एक ऐसी फोर्स का हिस्सा रह चुके हैं जो योजनाबद्ध ढंग से आम लोगों पर हमला करती है.

वीजा की अर्जी पर बीएसएफ की कड़ी निंदा करने के बाद कनाडाई उच्चायोग के प्रथम सचिव ने कहा, बीएसएफ ''हिंसा पर यकीन रखने वाली एक कुख़्यात फोर्स'' है. कनाडा के अधिकारियों का मानना है कि बीएसएफ आम लोगों और संदिग्ध अपराधियों को योजनाबद्ध तरीके से प्रताड़ित करती है.

दूतावास ने इन्हीं तर्कों के आधार पर पंढेर को वीजा देने से मना किया. पंढेर को सुझाव दिया गया है कि वह बीएसएफ से मिल रही सारी सुविधाओं से खुद को अलग करें और फिर वीजा के लिए आवेदन करें. पंढेर को यह जवाब बीते साल दिसंबर में दिया गया. इसके बाद उन्होंने बीएसएफ से संपर्क किया और फिर गृह मंत्रालय से होता हुआ मामला विदेश मंत्रालय तक पहुंचा.

गृह मंत्रालय का कहना है कि बीएसएफ से मिली जानकारी पर कुछ और बातें जोड़ी गई और फिर इन्हें विदेश मंत्रालय को भेजा गया. कनाडाई दूतावास के इस रुख़ पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने हैरानी जताई है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विष्णु प्रकाश ने कहा, ''इस मामले को संजीदा ढंग से कनाडा के सामने रखा जाएगा.''

रिपोर्ट: पीटीआई/ओ सिंह

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री